अयोध्या में राम मंदिर निर्माण को लेकर मोदी सरकार पर दबाव…

अयोध्या में राम मंदिर निर्माण को लेकर मोदी सरकार पर दबाव बढ़ता जा रहा है। हाल ही में प्रवीण तोगड़िया के विश्व हिंदू परिषद के अध्यक्ष पद से हटा दिया गया था। जिसके बाद से प्रवीण तोगड़िया राममंदिर निर्माण को लेकर माहौल बनाने की कोशिश में लगे हुए हैं। इस कोशिश को पूरा करने के लिए तोगड़िया आज से राम मंदिर की मांग को लेकर अनिश्चितकालीन उपवास रखेंगे।

प्रवीण तोगड़िया 32 साल तक विहिप के अध्यक्ष रहे। उन्होंने विहिप के नए अध्यक्ष एस कोकजे को उपवास में शामिल होने का आग्रह किया और कहा कि वह या तो उपवास में उनके साथ शामिल हों या संसद में राम मंदिर निर्माण के लिए विधेयक लाने के लिए दबाव बनाएं।

उन्होंने कहा कि विहिप ने कहा था कि एक बार हम (संघ परिवार) संसद में बहुमत में आएंगे तो हम विधेयक पास कर राम मंदिर निर्माण का मार्ग प्रशस्त करेंगे। विहिप ने लोगों से अयोध्या में कार सेवा करने के लिए और शहादत देने को भी कहा था। राम मंदिर के लिए करीब 60 लोगों ने अपनी शहादत दी थी और गुजरात के हजारों लोगों ने अपना योगदान दिया था।

 

तोगड़िया ने मोदी की आलोचना करते हुए कहा कि सीमाओं पर सैनिक सुरक्षित नहीं हैं। किसान खुदकुशी कर रहे हैं। हमारी बेटियां हमारे घरों में सुरक्षित नहीं हैं और प्रधानमंत्री विदेश दौरे पर गए हैं।

बता दें कि विहिप की बनी नई टीम में तोगड़िया कोकोई भी नया दायित्व नहीं मिला है।

 

Facebook Comments