वॉट्सऐप पर संदेश भेजकर दस-दस लाख रुपये की मांग…..

मड़ियांव इलाके में रहने वाले विधायक नीरज बोरा के वॉट्सऐप पर भी मेसेज भेजकर रंगदारी मांगी गई है. बताया जा रहा है कि मेसेज एक ही नंबर से आया है. बोरा को भी तीन दिन के भीतर पैसे देने धमकी दी गई है. नीरज बोरा ने बताया कि पहले उन्होंने ध्यान नहीं दिया तो सोमवार को उन्हें विडियो कॉलिंग की गई. कॉल अटेंड न करने पर मेसेज भेजा गया कि दो दिन के बाद आप हमेशा के लिए बात नहीं कर पाएंगे

वॉट्सऐप पर संदेश भेजकर दस-दस लाख रुपये की मांग किसी अनजान शख्स दवारा किये जाने का मामला सामने आया है जिसके बाद  बीजेपी के आठ विधायकों और एक पूर्व विधायक सकते में है. सदेश में साफ लिखा है कि रकम न देने पर विधायकों और उनके परिजनों को तीन दिन के भीतर जान से मार दिया जायेगा.

इसके बाद दो विधायकों ने हजरतगंज कोतवाली में रिपोर्ट भी दर्ज करवाई है. आरोपित को दबोचने के लिए पुलिस के अलावा एटीएस और एसटीएफ को लगा दिया गया है. पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक महोली के विधायक शशांक त्रिवेदी ने महानगर कोतवाली में रिपोर्ट दर्ज करवाई है. वहीं, लखनऊ उत्तरी से बीजेपी विधायक नीरज बोरा, मोहम्मदी के विधायक मृगेंद्र प्रताप सिंह, डिबाई की विधायक अनीता लोध और गोरखपुर के चिल्लूपार से पूर्व विधायक राजेश त्रिपाठी ने पुलिस अधिकारियों को प्रार्थना पत्र देकर इस बारे में जानकारी दी है.

महानगर सेक्टर सी निवासी शशांक त्रिवेदी सीतापुर के महोली से विधायक हैं. उन्होंने बताया कि सोमवार की रात को 2:03 बजे उनके वॉट्सऐप पर एक नंबर से लगातार सात मेसेज आए. मेसेज भेजने वाले ने सबसे पहले लिखा है कि ‘मैं हूं ali budesh bhai’. उसके बाद उसने परिवार की सलामती का हवाला देकर विधायक से दस लाख रुपये रंगदारी मांगी है. विधायक ने शिकायत में बताया है कि फोन पर धमकी दी गई है कि अगर तीन दिन के भीतर रकम की व्यवस्था नहीं की गई तो एक-एक कर उनके परिवार के सदस्यों की हत्या की जाएगी. धमकी देने वाले ने मेसेज में लिखा है कि उसके आदमी विधायक के आसपास हैं, लिहाजा समय बर्बाद न करें. मामले पर एसएसपी दीपक कुमार का कहना है कि विधायक का कोई करीबी ही हरकत कर रहा है.

 

Facebook Comments