पुलिस द्वारा रेप केस में फंसाए जाने और प्रताड़ित किए जाने पर 35 वर्षीय सुनील ने जहर खाकर जान दी…

घटना पानीपत के भापरा गांव की है. यहां कथित तौर पर पुलिस द्वारा रेप केस में फंसाए जाने और प्रताड़ित किए जाने से आजिज आकर 35 वर्षीय सुनील ने जहर खाकर जान दे दी. परिजनों ने आनन-फानन में सुनील को पार्क हॉस्पिटल में भर्ती करवाया, लेकिन इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई.

हरियाणा के पानीपत में पुलिस प्रताड़ना से परेशान होकर एक व्यक्ति द्वारा खुदकुशी करने का सनसनीखेज मामला सामने आया है. मृतक के भाई ने पुलिस पर पैसे की उगाही का आरोपी भी लगाया है.

आशीष ने बताया कि सुभाष के कहने पर उसने 10 हजार रुपये एक दूसरे गांव के पुलिसकर्मी को दे दिए. आशीष ने बताया कि उसने जिस पुलिस वाले को पैसे दिए वह सुभाष के साथ उनके घर आ चुका है.

परिजनों की शिकायत पर कार्रवाई करते हुए पुलिस अधीक्षक के आदेश पर दो पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया गया है. पुलिस ने मामले में केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है.

मृतक के भाई आशीष ने बताया कि 14 मार्च को सुनील के खेत में एक अनजान युवक और एक युवती चले आए थे. जिसके बाद सुनील ने 100 नम्बर पर फोन कर पुलिस को बुला लिया. पुलिस युवक-युवती को पकड़कर अपने साथ ले गई.

लेकिन अगले ही दिन तीन पुलिस वाले किसी निजी गाड़ी में सुनील के घर पहुंचे. पुलिसकर्मी सुनील को अपने साथ कबडी रोड मॉडल टाउन थाना ले गए. आशीष का कहना है कि वहां पुलिस वालों ने सुनील को डराया धमकाया और मारापीट भी की.

पुलिसकर्मी सुनील को यह कहकर धमकाने लगे कि उसने लड़की के साथ रेप किया है. पुलिसकर्मियों ने सुनील से कहा कि लड़की ने उसके खिलाफ बयान दिया है. हालांकि लिखित बयान की कॉपी मांगने पर उन्होंने दिखाने से इनकार कर दिया.

आशीष ने कहा कि सुभाष नाम के एसआई ने मामला निपटाने के लिए सुनील से एक लाख रुपये की मांग की. इतना पैसा होने से इनकार करने पर सुभाष ने 30 हजार रुपये मांगे. इस पर आशीष ने कहा कि उसके पास सिर्फ 10 हजार रुपये हैं.

इसके बाद पुलिस वालों ने उसके भाई सुनील को छोड़ दिया. आशीष अपने भाई सुनील को लेकर घर आ गया. लेकिन पुलिस की प्रताड़ना और अपने ऊपर लगे रेप के आरोप से आजिज आकर सुनील ने जहर खाकर खुदकुशी कर ली.

Facebook Comments