4 दिन बाद आएगा बलात्कारी बाबा पर कोर्ट का फैसला……

बता दें कि जोधपुर की ट्रायल कोर्ट का फैसला 25 तारीख को आएगा। इससे पहले प्रशासन ने इलाके में धारा 144 लगा दी है जो 30 अप्रैल तक लागू रहेगी।

राजस्थान उच्च न्यायालय में जोधपुर केंद्रीय जेल के परिसर में फैसले की घोषणा के लिए राज्य पुलिस द्वारा याचिका दायर की गई थी, जिसे मान लिया गया है।

अदालत ने अधिकारियों को यह भी सुनिश्चित करने के लिए पर्याप्त सुरक्षा कर्मियों को तैनात करने का निर्देश दिया था कि उनके अनुयायियों ने शहर में कोई कानून और व्यवस्था की समस्या ना पैदा करने पाएं।

डीसीपी (पूर्व) अमन दीप सिंह ने कहा कि पुलिस प्रयास करेगी कि आसाराम के अनुयायियों को शहर से बाहर ही रहें। उन्होंने कहा कि हम यहां बड़ी संख्या में अनुयायियों के इकट्ठा होने के बारे में चिंतित हैं क्योंकि वे कानून और व्यवस्था के लिए खतरा हो सकते हैं। इसके अलावा, पुलिस पाल गांव और मणि गांव में उनके आश्रमों पर भी नजर रख रही थी जहां आरोप लगाया गया था कथित तौर पर रेप हुआ है। हमने प्रबंधकों को चेतावनी दी है कि इस अवधि के दौरान अपने अनुयायियों को इकट्ठा करने की अनुमति न दें।

पुलिस शहर के होटल और गेस्ट हाउसों के साथ-साथ बस और रेलवे स्टेशनों पर भी नजर रख रही है। डीसीपी (पश्चिम) समीर सिंह ने कहा, ‘हमने बस और रेलवे स्टेशनों पर नियंत्रण कक्ष स्थापित किए हैं और अधिकारियों से लगातार जानकारी साझा करने का आग्रह किया है।’ शहर के सभी प्रवेश द्वारों पर चेक पोस्ट होंगे जहां पुलिस सुनिश्चित करेगी उनके अनुयायी प्रवेश ना कर सकें। पहचान पत्रों की जांच की जाएगी और किसी भी संदेह के मामले में व्यक्ति को वापस लौटा दिया जाएगा।

Facebook Comments