बच्चों से दुष्कर्म के आरोपी को होगी फांसी, POCSO एक्ट में संशोधन की प्रक्रिया शुरू….

उन्नाव रेप और कठुआ गैंगरेप की घटनाओं को लेकर विरोध सह रही केंद्र सरकार कड़े कानून बनाने जा रही है। सुप्रीम कोर्ट को सौंपी रिपोर्ट में केंद्र ने कहा कि पोक्सो एक्ट में संसोधन की प्रक्रिया शुरू कर दी है। 12 साल तक के बच्चों के साथ रेप करने के दोषी को फांसी की सजा दिए जाने की व्यवस्था की जा रही है। केंद्र ने एक जनहित याचिका के जवाब में यह रिपोर्ट सौंपी। मामले की अगली सुनवाई 27 अप्रैल को होगी।

केंद्र ने सुप्रीम कोर्ट को सौंपी रिपार्ट
केंद्र द्वारा सुप्रीम कोर्ट को भेजी गई चिट्ठी में कहा गया कि 12 साल के बच्चों से रेप के मामले में POCSO ऐक्ट में संशोधन की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है, जिससे दोषियों को अधिकतम दंड के तौर पर मौत की सजा दी जा सके। हाल ही में महिला एवं बाल विकास मंत्री मेनका गांधी ने कहा था कि उनका मंत्रालय बच्चों के साथ दुष्कर्म के दोषियों के लिए मृत्युदंड की सजा के प्रावधान के लिए पॉक्सो एक्ट में संशोधन की मांग पर विचार कर रहा है।

बता दें कि बच्चियों के साथ बढ़ रही रेप की घटनाओं को लेकर देशभर से पाक्सो एक्ट में संशोधन की मांग उठने लगी है। जम्मू के कठुआ में आठ साल की बच्ची के साथ सामूहिक दुष्कर्म और हत्या मामले के बाद लोग रोष में हैं। पीड़िता को न्याय दिलाने के लिए विरोध प्रदर्शन किए जा रहे हैं। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी इस मामले का शर्मनाक बताया ​था।

Facebook Comments