राशि अनुसार चयन कर होली के रंग… आएगी खुशहाली

 होली का त्यौहार वैसे ही मस्ती भरा होता है, ऐसे में एक दूसरे को रंग गुलाल लगाकर त्यौहार का आनंद दुगना हो जाता है। रंग भी लाल-गुलाबी, पीला तो कोई हरा उपयोग करता है, लेकिन इस साल थोड़ा संभल कर रंगों का प्रयोग करना करना वरना को लफड़ा पड़ सकता है। साथ ही अगर समय के अनुसार रंगों की होली खेलना शुरू करें तो अतिउत्तम भी हो सकता है। इसलिए हम आपको बता रहे है कि किस राशि के जातक कोन सा रंग आज धुलेंडी के दिन उपयोग करे, ताकि महासंयोग के शुभ मुहूर्त में होलिका दहन और रंगपंचमी का त्यौहार खुशियों से भर जाए।

इसलिए हम ज्योतिषी रवि जैन के अनुसार आपके लिए लाए कुछ स्पेशल रंग जो आपके जीवन में भी भर देंगे प्यार के रंग। आज शहर में धुलेंडी धूमधाम से मनाई जाएगी। एक दूसरे को जहां नागरिक जमकर रंग-गुलाल लगाकर उत्सवी माहौल में होली का त्यौहार मनाएंगे। ऐसे में राशि अनुसार रंगों का चयन कर आप अपने साथ और हम सफर के साथ मित्रों को भी खुश कर सकते हैं। अगर इसके विपरीत रंग का इस्तमाल किया तो कुछ लफड़े भी पड़ सकते हैं।

राशि के अनुसार रंगों से खेले होली
मेष राशि- लाल एवं गुलाबी रंग का उपयोग करे।
वृषभ राशि- वाले हल्का नीला एवं आसमानी, सफेद रंग से होली खेले।
मिथुन राशि-हल्के हरे रंग, नारंगी व गुलाबी रंग सही रहेगा।
कर्क राशि- हल्का नीला, सफेद एवं चांदी के रंग से होली मनाए।
सिंह राशि-मेहरून रंग, सुनहरा रंग, तांबे व लाल रंग अनुकूल होगा।
कन्या राशि-स्वभाव के मुताबिक गहरा हरा, शुभ रहेगा।
तुला राशि-सफेद रंग के अलावा बैंगनी, भूरा व नीले रंग लगाए।
वृश्चिक राशि-गहरे लाल, मेहरून, भूरे रंग से होली खेले।
धनु राशि- पीला एवं संतरी रंग का उपयोग करें।
मकर राशि- हल्के नीले और आसमानी रंग का इस्तमाल करें।
कुंभ राशि- गहरे नीले रंग काफी शुभ रहेगा।
मीन राशि- पीले या हल्के पीले रंग इस्तमाल करना शुभ रहेगा।

इन समय पर शुरू करें खेलना होली
वैसे तो १२.१८ बजे से १.५ बजे तक अभिजीत मुहूर्त रहता है। इसके साथ ही सुबह ९.११ से ९.५८ तक एवं दोपहर में १. ५ से दोपहर १.५२ तक जितना हो सके होली खेलने से परहेज करे। साथ ही पश्चिम में मुंह करके होली नहीं खेले। विवाहित नवयुगल सुबह ९.१९ से ९.४६ बजे के मध्य होली खेलना प्रारंभ कर सकते हैं।

Facebook Comments