दुख हुआ जब टाटा मोटर्स को देश ने फेल माना : रतन टाटा

Ratan Tata, chairman emeritus of Tata Group, attends a session at the Boao Forum for Asia in Boao, Hainan, China, on Wednesday, April 9, 2014. The Boao Forum for Asia takes place from April 8-11. Photographer: Brent Lewin/Bloomberg via Getty Images

लेकिन हाल ही के वर्षों में कंपनी की बाजार भागीदारी में गिरावट पर दुख होता। साथ ही उन्होंने कहा कि चेयरमैन एन चंद्रशेखरन व प्रबंध निदेशक गुएंतर बुशचेक के नेतृत्व में टाटा मोटर्स भविष्य में आगे बढ़ना जारी रखेगी।

टाटा समूह के चेयरमैन रतन टाटा ने सोमवार को पुणे में आयोजित कंपनी कर्मचारियों के एक सालाना कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि उन्हें दुख होता है जब टाटा मोर्टस को देश में फेल माना गया। उन्होंने कहा कि मुझे दुख होता है जब हमने बीते चार पांच साल में बाजार भागीदारी गंवा दी और हम एक ऐसी कंपनी बन गए जिसे देश विफल कंपनी के रूप में देखने लगा।

टाटा मोटर्स के कर्मचारियों को संबोधित करते हुए रतन टाटा ने कहा कि वे फिर से इस कारोबार की प्रमुख कंपनी बनने की योजना बनाएं। पिछले चार पांच साल में समूह की इस कंपनी की बाजार भागीदारी घटी है और जब देश इसे विफल कंपनी के रूप में देखता है तो दुख होता है। उन्होंने कहा कि टाटा मोटर्स से जुड़ा होना गर्व की बात है।

नये वाहन बनाना हो, यात्री कार खंड में उतरना हो या नयी प्रणाली बनाना हो ऐसा कुछ भी नहीं था जिसे हासिल करने के लिए हमने अपना सर्वसर्व नहीं झोंका। लेकिन हाल ही के वर्षों में कंपनी की बाजार भागीदारी में गिरावट पर दुख होता। साथ ही उन्होंने कहा कि चेयरमैन एन चंद्रशेखरन व प्रबंध निदेशक गुएंतर बुशचेक के नेतृत्व में टाटा मोटर्स भविष्य में आगे बढ़ना जारी रखेगी।

Facebook Comments