कैराना लोकसभा उपचुनाव का रिजल्ट अभी घोषित नहीं हुआ है लेकिन बीजेपी की हार करीब-करीब पक्की हो गई है…..

समाजवादी पार्टी के मुखिया और यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने उपचुनावों में संयुक्त विपक्ष को मिली जीत को सामाजिक न्याय की जीत और देश बांटने वालों की बार बताया है. अखिलेश ने यहा कि यह जीत समाजवादी विरासत, चौधरी चरण सिंह की विरासत की है. अखिलेश ने कहा कि जो खेल वे हमारे साथ खेलते थे, वही खेल हमने सीखा है उनसे. 

देशभर की 4 लोकसभा और 10 विधानसभा सीटों के परिणाम बीजेपी के लिए दुखद खबर ला रहे है. यूपी, महाराष्ट्र, पंजाब, बिहार, झारखंड और पश्चिम बंगाल के उप चुनावों में बीजेपी और उसके साथियों को हार देखनी पड़ रही है. इन चुनावों में जीत से उत्साहित विपक्ष ने बीजेपी के नेतृत्व वाली एनडीए सरकारों पर हमला बोल दिया है. समाजवादी पार्टी मुखिया अखिलेश यादव, आरएलडी के जयंत चौधरी और आरजेडी के तेजस्वी यादव इस हमले में सबसे अधिक भागीदारी कर रहे है. अखिलेश ने इसे समाजवादी विरासत की जीत बताया तो जयंत ने कहा कि यह जिन्ना पर गन्ना की जीत है. वहीं तेजस्वी ने इसे लालूवाद की जीत बताते हुए नीतीश पर तंज कसा है.

हालांकि कैराना लोकसभा उपचुनाव का रिजल्ट अभी घोषित नहीं हुआ है लेकिन बीजेपी की हार करीब-करीब पक्की हो गई है. यहां बीजेपी कैंडिडेट मृगांका सिंह ने हार स्वीकार भी कर ली है. आरएलडी उम्मीदवार तबस्सुम ने मृगांका को करारी शिकस्त दी है. जीत तय हो जाने के बाद जयंत चौधरी ने प्रेस वार्ता में सभी दलों का शुक्रिया कहा. जयंत ने कहा, ‘हम उन सभी दलों का शुक्रिया अदा करना चाहेंगे, जिन्होंने हमारा समर्थन किया. अखिलेश जी, मायावती जी, राहुल जी, सोनिया जी, सीपीएम, आप और अन्य का शुक्रिया. जिन्ना हारा, गन्ना जीता.

नतीजों के बाद बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री और आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने पटना में प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए नीतीश कुमार और बीजेपी पर जमकर हमला बोला. तेजस्वी ने कहा कि यह अवसरवाद पर लालूवाद की जीत है, अमन की जीत है। साथ ही उन्होंने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से इस्तीफा सौंपने को कहा. उन्होंने कहा लालू महज एक विचार नहीं विज्ञान हैं .

Facebook Comments