25 सालों से परिवार को अपने दम पर जिंदा रखा है इस बुजुर्ग शख्स ने, रोजाना उठाता है 100 किलो वजन

किसी ने सच ही कहा है कि पेट पालने के लिए इंसान को हर परिस्थतियों तक जाना पड़ता है, चाहे आपका काम और उम्र कुछ भी हो। कुछ ऐसी ही कहानी आज हम आपको बताने वाले है, जिसे पढ़कर शायद आपका भी दिल रो पड़े।

 

ये कहानी 25 सालों से बैक-ब्रेकिंग काम कर रहे एक बुजुर्ग आदमी की है। जो अपने बच्चों का 3 टाइम का खाना खिलाने के लिए मेहनत करता है। वो हर दिन 100 किलोग्राम का आटा को पीठ पर लादकर 1 किलो चलता है।
पेशावर में रहने वाला सईद अब्दुल गनी ऐसा व्यक्ति है जो अपने घरवालों को पालने के लिए जी तोड़ मेहनत करता है। उसकी परिवार की आजीविका उस पर निर्भर करती है। यही वजह है कि उसका शरीर इस उम्र में भी आराम करने का मौका नहीं देता।
वह प्रतिदिन 300 रुपयों की कमाई करने में सक्षम हैं,जिसपर उसे बहुत गर्व है। वह रोज पैसा मिलने पर अपने परिवार के भोजन के लिए प्याज और आलू खरीदने के लिए बाजार जाता है।
सैयद का कहना है कि वह गर्व है कि वह भीख मांगने के बिना अपने बच्चों के लिए ईमानदार जीवन प्रदान करने में सक्षम है।
Facebook Comments