नहीं मिलेगी नौकरी! सोशल मीडिया पर अफवाह फैलाना पड़ेगा भारी

सोशल मीडिया पर अब अफवाह फैलाना आपको भारी पड़ सकता है। ऐसे लोगों को नौकरी पाने में दिक्कत हो सकती है। दरअसल सोशल मीडिया में भड़काऊ मैसेज भेजने या फॉरवर्ड करने वालों के खिलाफ उत्तराखंड पुलिस सख्त हो गई है।

आईजी कुमाऊं रेंज पूरन सिंह रावत ने ऐसे लोगों को सख्त चेतावनी दी है कि अफवाह फैलाने वालों को सरकारी नौकरी के लिए होने वाले सत्यापन, ठेकेदारी के पंजीकरण, शस्त्र लाइसेंस और पासपोर्ट बनाने में पुलिस सत्यापन में इस इसका स्पष्ट उल्लेख किया जाएगा।
आईजी कुमाऊं रावत ने शनिवार को अपील जारी करते हुए लोगों को आगाह किया कि सोशल मीडिया में किसी भी प्रकार की अफवाह वायरल करने का खामियाजा भुगतना होगा। किसी भी प्रकार की अफवाह क्षेत्र विशेष के लोगों के लिए दहशत का पर्याय बनती है। लिहाजा इस प्रकार के कृत्य अपराध की श्रेणी में आते हैं।
कुमाऊं में अब तक 9 लोगों के खिलाफ कार्रवाई-
आईजी रावत ने बताया कि कुमाऊं मंडल में अब तक 9 लोगों के खिलाफ अफवाह फैलाने के जुर्म में कार्रवाई की गई है। उन्होंने बताया कि नैनीताल जिले में 5, चम्पावत में 3 और बागेश्वर जिले में 1 आरोपी के खिलाफ कार्रवाई की जा चुकी है।

रात्रि गश्त के नाम पर मारपीट बर्दाश्त नहीं-
आईजी रावत ने सख्त चेतावनी दी है कि रात्रि गश्त के नाम पर किसी भी व्यक्ति से अभद्रता या मारपीट किसी भी हाल में बर्दाश्त नहीं की जाएगी। उन्होंने कहा कि कई स्थानों से राह चलते लोगों को संदिग्ध बताकर उनके साथ मारपीट की शिकायतें मिल रही हैं। कहीं पर भी संदिग्ध के दिखने की सूचना पुलिस को दें। यदि किसी ने भी कानून हाथ में लेने की कोशिश की, तो उसे नहीं बख्शा जाएगा।

Facebook Comments