दरअसल साल 2016 में पाकिस्तान में होने वाले सार्क सम्मेलन का भारत ने बहिष्कार किया था

करतारपुर कॉरिडोर से रिश्तो में आई नरमी के संकेत के बीच पाकिस्तान प्रधानमंत्री Narendra Modi को सार्क सम्मेलन में आने के लिए आमंत्रित करेगा।

पाकिस्तान की इमरान खान सरकार ने 20वें सार्क सम्मेलन में प्रधानमंत्री Narendra Modi को बुलाने का फैसला किया है। पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय की तरफ से जानकारी देते हुए कहा गया है कि इस साल पाकिस्तान में प्रस्तावित सार्क सम्मेलन में शामिल होने के लिए प्रधानमंत्री Narendra Modi को न्योता भेजा जाएगा।

20वें दक्षिणी एशियाई क्षेत्रीय सहयोग संघ का सम्मेलन पाकिस्तान में हो रहा है। इससे पहले साल 2016 में भी 19वें सार्क सम्मेलन का आयोजन पाकिस्तान में होना था, लेकिन भारत समेत, बांग्लादेश, भूटान, और अफगानिस्तान ने इस सम्मेलन में हिस्सा लेने से इनकार कर दिया था। जिसके चलते इस सम्मेलन को रद्द करना पड़ा था।

अब जबकि पाकिस्तान में सत्ता परिवर्तन हो चुका है और इमरान खान की आगुवाई वाली सरकार सभी सदस्य देशों को मनाने की कोशिश करती दिख रही है। क्योंकि उसे डर है कि सितंबर 2016 की तरह कहीं इस बार भी सदस्य देश इस सम्मेलन में हिस्सा लेने से इनकार कर दें और उसे ये सम्मेलन एक बार फिर रद्द करना पड़े।

दरअस पाकिस्तान पिछले दो सालों से सार्क सम्मेलन का आयोजन नहीं कर पा रहा है। जिसके चलते इस बार उस पर काफी दबाव है कि वह सफल तरीके से इस सम्मेलन को आयोजित करवाए। सार्क के फिलहाल 8 सदस्य देश हैं जिनमें अफगानिस्तान, बांग्लादेश, भूटान, भारत, नेपाल, मालदीव, पाकिस्तान, और श्रीलंका शामिल हैं। आखिरी सार्क सम्मेलन साल 2014 में काठमांडू नेपाल में आयोजित किया गया था।

Facebook Comments