सैलरी बढ़ाने को कहा तो मालिक ने कर दी कुटाई, साथी के साथ मिलकर कर डाली 80 लाख की चोरी..ले लिया बदला

पुलिस ने संदीप, सागर, मुकेश और बृजेश को गिरफ्तार कर लिया। इनके पास से 1 किग्रा सोना बरामद हुआ है। मामले में मुकेश सेठ की पत्नी समेत चार और आरोपी हैं, जो फरार है।

एक कर्मचारी ने मालिक से वेतन बढ़ाने की गुहार लगाई लेकिन तनख्वाह बढ़ाने की बजाए मालिक ने उसकी पिटाई कर दी। इससे नाराज कर्मचारी ने अपने दोस्तों के साथ मिलकर स्कूटर में रखा 80 लाख रुपए का सोना चोरी करवा दिया। संदीप नाम के आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है। पूछताछ में संदीप ने बताया कि जिस दिन दुकान के मालिक गोपाल सेठ के भाई हरिशंकर और उसके बेटे रवि ने उसकी पिटाई की थी, उसी दिन उसने बदला लेने की ठान ली थी।

घटना 7 जुलाई की है। एसएसपी आनंद कुलकर्णी ने बताया कि रेशम कटरा इलाके में 3 किलो 400 ग्राम सोने की चोरी की वारदात को संदीप ने ही अपने साथियों के साथ मिलकर अंजाम दिया। वह वारदात का मास्टरमाइंड है। स्कूटर की डिग्गी में गोपाल सेठ सोना लाते थे, संदीप ने उस डिग्गी की डुप्लीकेट चाबी बनवा ली। उसने एक सिम की भी व्यवस्था की। संदीप ने चोरी को अंजाम देने के लिए अपने दोस्तों सागर, बृजेश और मुकेश को शामिल किया। मुकेश की ज्वेलरी की दुकान गोपाल सेठ की दुकान के सामने है। अपने प्रतिद्वंद्वी को बर्बाद करने की मंशा से मुकेश भी साजिश में शामिल हो गया।

आठ लोग थे साजिश में शामिल: संदीप ने पुलिस को बताया कि 6 जुलाई को मुकेश मुझे और सागर को अपने घर ले गया। वहां उसने रूपेश और बृजेश नाम के लोगों से उनकी मुलाकात कराई। डुप्लीकेट चाबी और सिम संदीप ने बृजेश को दे दिए। 7 जुलाई को गोपाल सेठ सुबह 5.30 बजे दुकान पहुंचे। सोना उनकी डिग्गी में ही रखा था। वह स्कूटर बाहर खड़ा कर दुकान की साफ सफाई कराने के लिए गोपाल सेठ अंदर गए। इसी बीच मौका पाकर बृजेश ने स्कूटर की डिग्गी खोलकर झोला सहित पूरा सोना निकाल लिया। गली के बाहर आकर उसने सोने से भरा झोला रूपेश को दिया। रूपेश अन्य साथियों के साथ हेलमेट लगाए खड़े था, तकि कोई पहचान ना सके। पुलिस ने संदीप, सागर, मुकेश और बृजेश को गिरफ्तार कर लिया। इनके पास से 1 किग्रा सोना बरामद हुआ है। मामले में मुकेश सेठ की पत्नी समेत चार और आरोपी हैं, जो फरार है।

Facebook Comments