सलमान खान की उड़ाई इस शख्स ने नींद,जिंदा वापस नहीं जाने दूंगा

जोधपुर पुलिस ने भी इसकी पूरी तैयारी कर ली है। दरअसल, 3 महीने पहले पंजाब के गैंग्स्टर लॉरेस विश्नोई ने खुलेआम धमकी दी थी कि ‘सलमान को यहीं मारेंगे।’ फिलहाल, लॉरेंस जोधपुर जेल में बंद है। लेकिन पुलिस ने उसकी धमकी को गंभीरता से लिया है।  

बॉलीवुड एक्टर सलमान खान से जुड़े काला हिरण शिकार मामले में गुरुवार को कोर्ट अपना फैसला सुनाएगा। लेकिन इस बार सलमान बेहद टाइट सिक्युरिटी में कोर्ट पहुंचेंगे।

डिफरेंट स्टाइल में समाज सेवा का दावा करने वाले लॉरेंस को शानो-शौकत से रहना क्राइम वर्ल्ड में खींच लाया। 8 जनवरी को किसी मामले में पेशी के दौरान लॉरेंस ने खुलेआम सलमान पर अटैक करने की धमकी दी थी। कहा था- ‘सलमान को यहीं पर मारेंगे और सब देखते रह जाएंगे।

 

मैंने आज तक कोई ऐसा काम नहीं किया, जिसके लिए मुझ पर मुकदमा दर्ज किया जाए। पुलिस मुझे फर्जी मुकदमों में फंसा रही है।’ ‘पुलिस अगर यही चाहती है कि मैं कुछ कर दिखाऊं तो अब सलमान खान को मार कर दिखाऊंगा और यहीं जोधपुर में मारूंगा। तब पुलिस को मालूम पड़ेगा कि मैं क्या कर सकता हूं।’

बता दें कि तब जोधपुर एयर पोर्ट से बाहर निकलर कोर्ट जाने और वापस मुंबई पहुंचने तक सलमान खान के चेहरे पर तनाव साफ दिखाई दिया था। विश्नोई समुदाय हमेशा से पेड़ों व वन्य जीवों को बचाने में अग्रणी रहा है। इस समाज के कई लोग वन्यजीवों को बचाने के प्रयास में अपनी जान तक गंवा चुके है।  हिरण शिकार प्रकरण को लेकर विश्नोई समुदाय में बरसों से सलमान के प्रति गहरी नाराजगी है। इस मामले में समुदाय के लोग भी पक्षकार है और इस समुदाय के लोगों के लोगों की शिकायत पर ही यह केस दर्ज हुआ था।  ऐसे में इसी समुदाय का लॉरेंस सलमान को टारगेट कर पूरे समुदाय की सहानुभूति पाना चाहता है। उसका मकसद विश्नोई बाहुल्य वाले किसी क्षेत्र से चुनाव लड़ने का है।

गौरतलब है कि पंजाब और हरियाणा की सबसे खतरनाक गैंग्स में से एक का लीडर लॉरेंस है। हैरानी की बात यह है कि जेल में रहकर भी वह गैंग को ऑपरेट करता रहता है। लॉरेंस के पास महंगी पिस्तौल और बंदूकों का जखीरा भी है। लगभग 10 साल कॉलेज में हवाई फायरिंग कर वो सुर्खियों में आया था।

इसके बाद लग्जरियस लाइफस्टाइल जीने के लिए क्राइम की दुनिया में आ गया। लॉरेंस की फेसबुक प्रोफाइल से पता चलता है कि वो भगत सिंह सहित कई बड़े क्रांतिकारियों को अपना आदर्श मानता है। रिपोर्ट बताती है कि वह जेल में अमूमन विदेश सिम से वॉट्सऐप के जरिए सारे कामों को अंजाम देता है। उसके पिता लविंद्र कुमार पंजाब पुलिस में कॉन्स्टेबल रह चुके हैं।

 

Facebook Comments