सास नहीं भेज रही थी बहू को घर, दामाद ने सास को दी फिर दर्दनाक मौक

शनिवार को धारदार हथियार से एक महिला की गला काटकर हत्या कर दी गई। आरोप के अनुसार हत्यारोपी कोई और नहीं, बल्कि उसके मुंहबोले दामाद का छोटा भाई था। जो अपनी भाभी को मायके से ससुराल ले जाना चाह रहा था और मृतका उसका विरोध कर रही थी। बताया जाता है कि हत्यारोपी दामाद अपने साथी के साथ महिला पर तब तक ताबड़तोड़ प्रहार करता रहा जब तक महिला की मौत न हो गई। घटना के बाद हत्यारोपी फरार हो गया। उधर सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

इसलिए की हत्या-

जानकारी के अनुसार मितौली थाना क्षेत्र के ग्राम गाजीपुर के महादेउवापुर निवासी नीलम उर्फ रामभेजी (45) पत्नी नयाब गिरी जो मूल रूप से बंगाल की रहने वाली थी। कई वर्ष पूर्व नीलम व उसकी मुंहबोली भतीजी मीना इसी गांव में आकर बस गई थी। चूंकि नीलम को कोई औलाद नहीं थी, इसलिए नीलम ने मीना को ही अपनी औलाद मानकर अपने साथ रख लिया था और नीलम ने मीना का विवाह पड़ोस के गांव दरीनगरा निवासी श्रवण कुमार के साथ कर दिया था। कई वर्ष पहले मीना के पति श्रवण की मौत हो गई थी, जिसके बाद मीना पुनः अपनी चाची नीलम के साथ उसके घर में रहने लगी थी, लेकिन यह बात मीना के देवर रामखिलावन को नागवार गुजरी और वह अपनी भाभी को अपने साथ रखना चाह रहा था। कई बार वह नीलम के घर आकर मीना को ले जाने की जिद करने लगा, लेकिन नीलम उर्फ रामभेजी ने इसका विरोध किया। जिससे खुन्नस खाए रामखेलवान ने शनिवार को नीलम के घर पहुंचकर उसकी धारदार हथियार से गला काटकर नृशंस हत्या कर दी।

ऐसे रचाई हत्या की साजिश-

मीना देवी ने बताया कि शनिवार दोपहर करीब 12 बजे रामखिलावन अपने साथी के साथ आया और चाची नीलम के गले पर बांके से कई बार प्रहार किया। मीना ने इसका विरोध भी किया, लेकिन हत्या करने के मंसूबे से आया रामखिलावन नहीं माना और नीलम पर ताबड़तोड़ प्रहार करता रहा। जिससे नीलम की घटनास्थल पर ही दर्दनाक मौत हो गई। घटना को अंजाम देने के बाद हत्यारोपी रामखिलावन अपने साथी के साथ फरार हो गया। उधर घटना की सूचना पुलिस को दी गई। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए जिला मुख्यालय भेज दिया है। वहीं पुलिस घटना के हर पहलू की जांच कर हत्यारोपी की तलाश में जुट गई है।

Facebook Comments