TEXAS के स्कूल में एक छात्र ने की अंधाधुंध फायरिंग….

दरअसल यहां स्कूल के एक छात्र ने अंधाघुंध फायरिंग कर 10 लोगों को मौत के घाट उतार दिया है। जबिक कई घायल हो गए हैं।

हमलावर छात्र की ओर से की गई इस अंधाधुंध फायरिग का कारण अभी साफ नहीं हो सका। हमले में मरने वालों में ज्यादातर छात्र शामिल है जबिक एक टीचर की मौत हो गई है। स्थानीय मीडिया रिपोर्टों में संघीय और प्रांतीय अधिकारियों के हवाले से बताया गया कि यह घटना ह्यूस्टन से करीब 50 किलोमीटर दक्षिण स्थित टेक्सास शहर के सांता फे हाईस्कूल में हुई है।

कानून प्रवर्तक अधिकारियों द्वारा हमलावर की पहचान दिमित्रीस पागोर्टजिस के रूप में हुई है। हमलावर छात्र ने शुक्रवार  सुबह 8 बजे सांता फे हाइस्कूल की आर्ट क्लास में आग लगा दी थी। जिसके बाद कर्मचारियों ने फायर अलार्म बजाकर स्कूल के दूसरे छात्रों को क्लास से निकाला था। टेक्सास गवर्नर ग्रेग एबॉट ने बताया कि संदिग्ध ने विस्फोटक उपकरणों को वहीं छोड़ दिया था।

एबॉट ने कहा कि जांचकर्ताओं ने संदिग्ध के फेसबुक पेज पर एक टी-शर्ट देखी थी, जिस पर “बोर्न टू किल” लिखा हुआ था।  इस मामले में और जांच की जा रही है। हालांकि प्रांत के गवर्नर ने कहा कि हमलावर किसी  हमले की योजना बना रहा था, इसके कोई बाहरी संकेत नहीं थे।

हमलावर छात्र के साथ पढ़ रहे छात्रों ने उसके बारे में बताया कि वह काफी शातं और स्कूल की फुटबाल टीम में शामिल था। हमले वाले दिन 32 डिग्री से ज्यादा की गर्मी में भी कोट पहना हुआ था। बता दें कि यह हमला अमेरिका के स्कूलों में इसी तरह से हुए हमलों में बिल्कुल नया है।

बता दें कि इसी साल 14 फरवरी को फ्लोरिडा के पार्कलैंड के एक स्कूल में 17 छात्रों और 1 शिक्षक को हमलावर ने अंधाधुंध फायरिंग कर मौत के घाट उतार दिया था। जिसके बाद पूरे देश में ये बहस  छिडी़ थी क्या हथियारों के स्वामित को लेकर बने कानून को बदलने की जरूरत है।

 

Facebook Comments