IIT मद्रास ने बनाया देश का पहला माइक्रो प्रोसेसर ‘शक्ति’

भारत का पहला स्वदेशी माइक्रोप्रोसेसर जल्द ही आपके मोबाइल फोन, सर्विलांस कैमरा और स्मार्ट मीटर्स को ताकत देगा। इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ मद्रास ने ‘शक्ति’ नाम के इस माइक्रोप्रोसेसर को डिवेलप और डिजाइन किया है। इंडियन स्पेस रिसर्च ऑर्गनाइजेशन, चंडीगढ़ की सेमी कंडक्टर लैब में माइक्रोचिप के साथ इसे बनाया गया है। इससे आयात की गई माइक्रो चिप पर निर्भरता कम होगी। साथ ही इन माइक्रो चिप की वजह से होने वाले साइबर अटैक का खतरा भी कम होगा।

आईआईटीएम की राइज लैब के लीड रिसर्चर प्रफेसर कामकोटी वीजीनाथन का कहना है कि वर्तमान डिजिटल इंडिया में बहुत सारी एप्स को कस्टमाइज्ड प्रोसेसर कोर की आवश्यकता रहती है। हमारे नए डिजाइन के साथ ये सभी चीजें काफी आसान हो जाएंगी।

सभी कंप्यूटिंग और इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों का मस्तिष्क ऐसे कई माइक्रोप्रोसेसरों से जुड़ा है, जो उच्च गति प्रणालियों और सुपर कंप्यूटरों को संचालित करने के लिए उपयोग किए जाते हैं।

जुलाई में आईआईटी मद्रास के शुरुआती बैच ने 300 चिप डिजाइन की थी, जिन्हें अमेरिका के ऑरेगन में इंटेल की फैसिलिटी में जोड़ा गया था। अब यह देश में ही तैयार किया गया माइक्रो प्रोसेसर पूरी तरह भारतीय है। हालांकि प्रोफेसर ने कहा कि तकनीक पूरी तरह से अलग है। भारत में बना माइक्रोप्रोसेसर 180 एनएम का है, जबकि अमेरिका में बना प्रोसेसर 20 एनएम का है।

इस माइक्रोप्रोसेसर ने भारत में पहले ही तहलका मचा दिया है। आईआईटी मद्रास इसे लेकर 13 कंपनियों के संपर्क में है। अब टीम ‘पराशक्ति’ के साथ तैयार है, जो सुपर कम्प्यूटर में इस्तेमाल होने वाला अडवांस्ड माइक्रोप्रोसेसर है। यह सुपर स्केल प्रोसेसर दिसंबर 2018 तक तैयार हो जाएगा।

Facebook Comments