डायरेक्टर शेखर कपूर ने कहा- मैं इस अवार्ड को श्रीदेवी के पक्ष में देने के बिल्कुल नहीं….

भारतीय सिनेमा के सबसे बड़े पुरस्कारों की घोषणा हो चुकी है। नेशनल फिल्म अवार्ड्स 2018 में दिवंगत अभिनेत्री श्रीदेवी को बेस्ट एक्टर का अवार्ड दिया गया है।

हालांकि हर कोई श्रीदेवी के सम्मान में इस बात को सामने नहीं लाना चाह रहा है। अब नेशनल फिल्म अवार्ड्स ज्यूरी के हेड, डायरेक्टर शेखर कपूर ने एकदम साफ कहा कि मैं इस अवार्ड को श्रीदेवी के पक्ष में देने के बिल्कुल नहीं था। गौरतलब है कि शेखर कपूर पर उंगलियां उठेंगी ये वो जानते थे।

शेखर कपूर ने बहुत ही कम फिल्में भारत में डायरेक्ट की हैं जिनमें से एक मिस्टर इंडिया है। तो ज़ाहिर सी बात है वो श्रीदेवी के काफी करीब थे। शेखर कपूर ने बताया कि हर रोज मैं ज्यूरी के हर सदस्य को कहता कि फिर से इस अवार्ड के बारे में सोचिए।

 

शेखर ने बताया कि मैंने उन्हें यहां तक समझाया कि श्रीदेवी को प्लीज इसलिए वोट मत करिए क्योंकि वो अब इस दुनिया में नहीं है। केवल भावनाओं में बहकर बाकी लड़िकयों का मौका मत छीनिए। वो लड़कियां भी 10 – 12 साल से इंडस्ट्री में मेहनत कर रही हैं। इसलिए, बेस्ट एक्टर को लेकर रोज वोटिंग होती लेकिन रोज फैसला श्रीदेवी पर आकर ही रूक जाता।

इसका मतलब यही है कि शेखर कपूर खुद नहीं चाहते थे कि बेल्ट एक्ट्रेस का अवॉर्ड श्रीदेवी को दिया जाए लेकिन वह ही इसकी असली हकदार हुईं।

वहीं श्रीदेवी को मॉम के लिए बेस्ट एक्टर का अवार्ड मिलने पर उनका परिवार काफी खुश है। इस खुशी को बोनी कपूर ने श्रीदेवी के ट्विटर अकाउंट से ज़ाहिर किया। बोनी ने लिखा कि हम बहुत खुश हैं कि श्रीदेवी को ये अवार्ड मिला। हम चाहते हैं कि अपने काम के ज़रिए वो हमेशा ज़िंदा रहें।

 

Facebook Comments