बालासाहेब नहीं होते तो हिंदुओं को भी नमाज़ पढ़नी पड़ती: शिवसेना

शिवसेना के मुखपत्र ‘सामना’ के संपादकीय में लिखा है कि कुछ लोग छत्रपति शिवाजी व शिवसेना संस्थापक बालासाहेब ठाकरे के स्मारक को लेकर सवाल उठा रहे हैं कि इनकी क्या ज़रूरत है। संपादकीय में लिखा है, “शिवाजी नहीं होते तो पाकिस्तान की सीमा तुम्हारी दहलीज़ पर आ गई होती और बालासाहेब नहीं होते तो हिंदुओं को भी नमाज़ पढ़नी पड़ती।”
Facebook Comments