अगर पीना पसन्द करते हैं गन्ने का जूस तो जान लें होगा ये हानिकारक प्रभाव

बाजार में अक्सर गन्ने को बिना धोए ही उसे मशीन में डालकर उसका रस निकाला जाता है जिससे जूस के साथ हानिकारक बैक्टीरिया और पेस्टीसाइड आपके शरीर में चले जाते हैं जो कि शरीर के लिए हानिकारक हो सकता है। 

गर्मियों में गन्ने का रस सबसे ज्यादा प्रचलित पेय है। गन्ने का रस स्वादिष्ट और रिफ्रेशिंग होता है। गन्ने के रस में कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन, मिनरल्स, कैल्शियम और आयरन के अलावा और भी कई ऐसे पोषक तत्व होते हैं जो कि स्वास्थ्य के लिए लाभकारी होते हैं लेकिन गन्ने के रस के सेवन के समय भी कुछ सावधानियां बरतनी चाहिए नहीं तो इसका सेवन स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो सकता है। आइए जानते हैं कि गन्ने के रस के क्या-क्या हानिकारक प्रभाव हो सकते है।

1.कैलोरी अधिक होती है: गन्ने के रस में कैलोरी पर्याप्त मात्रा में होती हैं। एक गिलास गन्ने के रस में 269 कैलोरी होती है और लगभग 100 ग्राम शुगर होता है। इसलिए गन्रे का रस पीने से वजन बढ़ने की समस्या पैदा हो जाती है।

2.जल्दी दूषित हो जाता है: गन्ने के रस को 15 मिनट तक रखने पर यह ऑक्सीडाइज हो जाता है जिसे पीने से बीमारियों को खतरा पैदा हो जाता है। इसलिए ज्यादा ताजा गन्ने के रस का ही सेवन करें।

3.इंसोम्निया का खतरा पैदा हो जाता है: गन्ने के जूस में पोलिकोसनॉल होता है इसका अधिक मात्रा में सेवन करने से चक्कर आना, पेट खराब होने और इंसोम्निया जैसी परेशानियां पैदा हो जाती हैं।

4.खून को पतला कर देता है: गन्ने के रस में पोलिकोसनॉल होता है जो कि खून को पतला कर सकता है जिससे रक्त का थक्का जमने में देरी होती है। इसलिए अगर आप पहले से ही खून को पतला करने के लिए कोई दवा ले रहे हैं तो गन्ने का जूस ना पिएं।

5.संक्रमण का खतरा: बाजार में अक्सर गन्ने को बिना धोए ही उसे मशीन में डालकर उसका रस निकाला जाता है जिससे जूस के साथ हानिकारक बैक्टीरिया और पेस्टीसाइड आपके शरीर में चले जाते हैं जो कि शरीर के लिए हानिकारक हो सकता है।

Facebook Comments