भाजपा ने राहुल गांधी से मांगा जवाब, PoK के राष्ट्रपति की बगल में बैठे सिद्धू

पाकिस्तान के नए प्रधानमंत्री इमरान खान के शपथ ग्रहण समारोह के दौरान नवजोत सिंह सिद्धू को पाक अधिकृत कश्मीर (पी.ओ.के.) के राष्ट्रपति मसूद खान के पास ही बिठाया गया था, जिस पर सोशल मीडिया मेें सिद्धू की खासी किरकिरी हुई है। वहीं इमरान के शपथ समारोह के दौरान सिद्धू पाकिस्तान के सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा से गले मिले। सिद्धू ने कहा कि गुरु नानक देव जी के 550वें जन्मदिन पर पंजाबियों को तोहफा मिलेगा और इस दौरान करतारपुर मार्ग खोल दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि समारोह दौरान जनरल बाजवा ने मुझसे कहा कि हम सोच रहे हैं कि गुरु नानक जी के 550वें जन्मदिन पर करतारपुर साहिब के मार्ग को खोल दिया जाए।
PunjabKesari
वहीं भाजपा ने सिद्धू ने हमला बोलते हुए उनसे इस्तीफा मांगा है, साथ ही राहुल गांधी से सिद्धू के इस कदम पर सफाई भी मांगी। भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने एक प्रैस कॉन्फ्रैंस में कहा कि सिद्धू को किस हैसियत से पाकिस्तान के राष्ट्रपति के पास बिठाया गया। सिद्धू को जब पी.ओ.के. के राष्ट्रपति के पास बिठाया तो सिद्धू ने इसका विरोध क्यों नहीं किया। कांग्रेस की नियत पर सवाल खड़े होते हैं। सिद्धू संग बाजवा की तस्वीर से कांग्रेस भी असहज हो गई है।
PunjabKesari
इन चीजों को ले जाने की थी मनाही
समारोह में शामिल होने वाले मेहमानों से एन.आई.सी. या आधिकारिक मान्यता कार्ड लाने के लिए कहा गया था जबकि हैंडबैग, पर्स, मोबाइल फोन या कोई अन्य इलैक्ट्रॉनिक गैजेट्स नहीं लेकर जा सकते थे।
PunjabKesari
ये हस्तियां थीं मौजूद
1992 में क्रिकेट विश्व कप में पाकिस्तान को जीत दिलाने वाले कप्तान इमरान ने अपने शपथ ग्रहण समारोह में पुराने साथी क्रिकेटरों को भी बुलाया था। सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा, पूर्व क्रिकेटर नवजोत सिंह सिद्धू, क्रिकेटर से कमैंटेटर बने रमीज राजा, पूर्व तेज गेंदबाज वसीम अकरम सहित अन्य कई विशिष्ट अतिथि समारोह में उपस्थित थे। पी.टी.आई. के तमाम बड़े नेताओं ने भी इसमें शिरकत की। समारोह में इमरान की तीसरी और मौजूदा पत्नी बुशरा बीबी भी उपस्थित थीं। वह सफेद नकाब में थीं।

PunjabKesari

Facebook Comments