महिला को सांप ने काटा,कई घंटे तक गोबर में दबाए रखा,हुई दर्दनाक मौत….

यहां देवीन्द्री नाम की महिला को सांप ने काट लिया तो उसके परिवार ने उसका इलाज कराने की बजाय भैंस के गोबर में दबा दिया। महिला की तड़पकर मौत हो गई।

 

बुलंदशहर में अंधविश्वास का नजारा :
ये तस्वीर बुलंदशहर के ककोड़ थाना क्षेत्र के वैर की रहने वाली देवीन्द्री की है जो अब इस दुनिया में नहीं है लेकिन देवीन्द्री के साथ जो हुआ और फिर उसके बाद जो किया गया वो साइंस के ज़माने ये बताने के लिए काफ़ी है कि हमारे देश में अभी भी जागरूकता की बहुत कमी है। राजधानी दिल्ली से महज 70 किलो मीटर दूर बुलंदशहर के वैर में सांप काटे का जिस तरह इलाज किया गया, वो तस्वीरें देख कर शायद आपका कलेजा कांप जाए।

दरअसल 35 वर्षीय देवीन्द्री घर से कुछ दूरी पर लगी आरा मशीन से चूल्हे पर खाना बनाने के लिए लकड़ियां लेने गई थी और अचानक लकड़ियों के पीछे छिपे सांप ने देवीन्द्री को डस लिया। सांप काटे की ये बात देवीन्द्री ने अपने पति मुकेश को बताई और फिर सांप काटने की सूचना पर घर में लोग जमा हो गए। यहां जमा होने वाले लोगों में से किसी ने भी देवीन्द्री को इलाज के लिए किसी अस्पताल ले जाना बेहतर नहीं समझा। यहां एक ऐसे शख्स को बुलाया गया जो खुद को सपेरा बताता है और दावा करता है कि वो किसी जहरीले जानवर का ज़हर निकाल सकता है। परिजन और पड़ोसियों ने देवीन्द्री का इलाज कराने की बजाय उसे गोबर में दबा दिया और कई घंटे तक देवीन्द्री गोबर में दबी रही और आखिरकार देवीन्द्री की तड़प-तड़पकर मौत हो गई।

 

देवीन्द्री की हुई दर्दनाक मौत
सवाल ये उठता है कि देवीन्द्री को गोबर में दबाककर खुद को सपेरा बताने वाला युवक देवीन्द्री का कौन सा इलाज कराना चाहता था? और आज के इस दौर में भी ऐसे लोगों पर कैसे यकीन किया जा सकता है, अगर समय रहते देवीन्द्री का इलाज कराया जाता तो शायद उसकी जान बचाई जा सकती थी।

 

Facebook Comments