SP सुसाइड : ‘तुम खुश रहो मैं जा रहा हूं, तुम्हें कुछ नहीं होगा’

‘तुम खुश रहो मैं जा रहा हूं, तुम्हे कुछ नहीं होगा। मुझे माफ कर देना।’ यह बातें पत्नी डॉ. रवीना से बोलकर एसपी पूर्वी सुरेंद्र दास ने उनको सुसाइड नोट पकड़ा दिया। रवीना बोलीं, मुझे तुम चाहिए और उन्होंने सुसाइड नोट फाड़कर फेंक दिया। जहर की जानकारी मिलते ही उनको उल्टियां कराईं। जब उनकी हालत ठीक नहीं हुई तो उन्हें लेकर अस्पताल भागीं।

एसएसपी अनंत देव ने एसपी पूर्वी की पत्नी डॉ. रवीना से पूरी स्थिति पर बात की। रवीना ने पूरी स्थिति को एसएसपी से बयां किया है। एसएसपी ने बताया कि पूरे नोट में एसपी पूर्वी ने सुसाइड के लिए खुद को जिम्मेदार ठहराया है। उन्होंने किसी को भी दोषी नहीं बताया है। स्टोर में जहर खाने के बाद एसपी पूर्वी ने बाहर आकर दोनों मोबाइल तोड़ दिया। आवाज होने पर पत्नी को सुसाइड नोट थमाया। उनसे कहा कि तुम जो चाहती हो वह हो रहा है। स्थिति को भांपते हुए बदहवास रवीना ने डाक्टर होने के नाते जहर को कम करने के लिए उनके मुंह पर पानी डालकर उल्टी कराने का प्रयास था।

सुसाइड नोट को फाड़ने का उद्देश्य नहीं 

एसएसपी ने बताया कि पत्नी डॉ. रवीना की ओर से सुसाइड नोट को फाड़ने का कोई उद्देश्य नहीं था। यह बात उन्होंने बताई है। वह एसपी पूर्वी के जहर खाने से बदहवास हो गई थी। इसलिए उन्होंने एसपी का इलाज तत्काल शुरू किया।

Facebook Comments