मौत का तूफान,4 राज्यों में 41 लोगों की मौत….

उत्तर प्रदेश में आंधी के कारण 18 लोगों की मौत हो गयी जबकि पश्चिम बंगाल में आंधी के कारण 4 बच्चों समेत कम से कम 12 लोग मारे गये। आंध्र प्रदेश में 9 और दिल्ली में 2 लोगों के मारे जाने की सूचना। यही नहीं, उत्तर प्रदेश में संभल के राजपुरा में बिजली गिरने के चलते आग ने घरों को अपने चपेट में ले लिया. देखते ही देखते 100 घर जलकर राख हो गए। रविवार को यूपी के फिरोजाबाद में आंधी-तूफान के साथ-साथ तेज बारिश और ओले भी गिरे. खराब मौसम को देखते हुए अलीगढ़ में 12 वीं तक के सभी स्कूलों को सोमवार को बंद रखने का आदेश दिया गया।

उत्तर प्रदेश ही नहीं पश्चिम बंगाल, आंध्र प्रदेश समेत कई राज्यों में मौत के बवंडर का तंडव देखने को मिला। आंधी तूफान मे कम से कम 41 लोगों की मौत हो गई, वहीं कई घायल हैं

दिल्ली समेत उत्तर भारत में कई जगहों पर आयी प्रचंड आंधी के चलते बड़ी संख्या में पेड़ गिर गये जिससे सड़क, रेल एवं वायु सेवाएं प्रभावित हुयीं. इस बीच भाजपा सांसद हेमा मालिनी भी बाल बाल बचीं। दरअसल, उनके काफिले के आगे पेड़ गिर गया, लेकिन वक्त रहते ड्राइवर ने गाड़ी कंट्रोल कर ली और किसी भी प्रकार की हानि होने से बचाने में कामयाब रहा।

मौसम विज्ञान विभाग के अनुसार हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब, हरियाणा, चंडिगढ़, मध्य प्रदेश, झारखंड, असम, मेघालय, महाराष्ट्र, कर्नाटक, केरल और तमिलनाडु में छिटपुट स्थानों पर रविवार को गरज के साथ छींटे पड़े। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आंधी के कारण लोगों की मौत पर दुख प्रकट किया। उन्होंने अधिकारियों को प्रभावित लोगों की हर संभव मदद मुहैया कराने का निर्देश दिया. उन्होंने ट्वीट कर कहा, ‘देश के कुछ हिस्सों में आंधी के चलते लोगों की मौत की सूचना से दुखी हूं. शोक संतप्त परिजन को मेरी संवेदनाएं. घायलों के जल्द स्वस्थ होने की ईश्वर से प्रार्थना करता हूं।

 

Facebook Comments