अब महमना एक्सप्रेस से करें महाकालेश्वर और सोमनाथ ज्योतिर्लिंगों के दर्शन

यह ट्रेन दोनों दिशाओं में देवास, उज्जैन, रतलाम, गोधरा, अहमदाबाद, सुरेन्द्र नगर, वांकानेर एवं राजकोट स्टेशनों पर ठहरेगी।

देश के दो ज्योतिर्लिंग इंदौर-वेरावल महामना एक्सप्रेस के जरिए रेलमार्ग  से आपस में जुड़ गए हैं।  लोकसभा अध्यक्ष और स्थानीय सांसद सुमित्रा महाजन ने इस साप्ताहिक ट्रेन को हरी झंडी दिखाई। यह रेलगाड़ी इंदौर से उज्जैन होते हुए वेरावल पहुंचेगी। मध्यप्रदेश के उज्जैन में महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग है, जबकि वेरावल गुजरात का वह शहर है जो सोमनाथ ज्योतिर्लिंग से एकदम सटा है।
महामना एक्सप्रेस के शुभारंभ समारोह में महाजन ने कहा कि पश्विमी मध्यप्रदेश से सोमनाथ जाने वाले श्रद्धालुओं को इस नई ट्रेन से खासी सुविधा होगी। उन्होंने कहा कि पिछले कुछ वर्षों में लगातार नई ट्रेनें शुरू होने के कारण इंदौर अब रेल मार्ग से देश के हर राज्य की राजधानी से जुड़ गया है। इससे पहले, यात्रियों को कई राज्यों की रेल यात्रा के लिए रतलाम और खंडवा जाना पड़ता था। महाजन ने इंदौर के रेलवे स्टेशन पर लेडीज वेटिंग रूम की आज से शुरूआत की औपचारिक घोषणा भी की।
पसी में वेरावल-इंदौर महामना एक्सप्रेस (19319) हर गुरुवार वेरावल से 08:45 बजे रवाना होकर रतलाम, उज्जैन एवं देवास होते हुए अगले दिन यानी शुक्रवार को 04:55 बजे इंदौर पहुंचेगी। यह ट्रेन दोनों दिशाओं में देवास, उज्जैन, रतलाम, गोधरा, अहमदाबाद, सुरेन्द्र नगर, वांकानेर एवं राजकोट स्टेशनों पर ठहरेगी।

पश्विम रेलवे के एक प्रवक्ता ने बताया कि इंदौर-वेरावल महामना एक्सप्रेस (19320) की नियमित सेवा तीन जुलाई से शुरू होगी और यह ट्रेन हर मंगलवार इंदौर से 22:25 बजे चलकर देवास, उज्जैन और रतलाम होते हुए अगले दिन यानी बुधवार को 18:05 बजे वेरावल पहुंचेगी। वेरावल से इसकी नियमित सेवा का आगाज पांच जुलाई से होगा।

Facebook Comments