मरीज़ के साथ मारपीट के आरोप में डॉक्टरों के खिलाफ एफआईआर दर्ज

मरीज़ के साथ डॉक्टरों द्वारा मारपीट और बदसुलूकी हुई। अभद्रता पर आक्रोश जताते हुए छात्रों ने आरोपी डॉक्टरों के खिलाफ कार्रवाई की । इस कार्रवाई के बाद ही डॉक्टरों की  हड़ताल का सिलसिला शुरू हो गया।बनारस हिंदू विश्वविद्यालय यूनिवर्सिटी के छात्रों का बुधवार को सर सुंदर लाल अस्पताल में डॉक्टरों के साथ झड़प हो गयी। मरीज़ के साथ मारपीट के आरोप में डॉक्टरों के खिलाफ एफआईआर दर्ज हुई।मामला काशी हिन्दू विश्वविद्यालय के सर सुन्दरलाल चिकित्सालय का है।

पुलिस के मुताबिक, पीड़ित (सिर दर्द से पीड़ित व्यक्ति) ने आरोप लगाया है कि डॉक्टरों ने उनके और उनके दोस्त के साथ दुर्व्यवहार किया। फिर उन्हें मारना शुरू कर दिया। उन्होंने इस संबंध में अब बीएचयू के प्रोक्टरियल बोर्ड में भी शिकायत दर्ज की है।

पहले मरीज के साथ मारपीट और उसके बाद कार्रवाई से बचने के लिए हड़ताल। कुछ ऐसी ही हालत काशी हिन्दू विश्वविद्यालय के सर सुन्दरलाल चिकित्सालय से जुड़े रेजिडेंट डाक्टरों की है जो मरीज के लिए भगवान कम यमराज ज्यादा दिखाई देते हैं।

बता दें कि BHU संस्कृत विभाग के शास्त्री थर्ड ईयर का छात्र डॉक्टर से इलाज कराने सर्जरी विभाग पहुंचा। जहां मौजूद डॉक्टर ने लम्बे इन्तजार के बाद छात्र का इलाज करने से ही मना कर  दिया। हद तो तब हो गई जब छात्र इसका कारण पूछ बैठा, नाराज तीन डाक्टरों ने छात्र के सिर पर तेज वार किया बल्कि घसीट कर वार्ड से बाहर भी कर दिया।

नाराज छात्र लंका थाना पहुंचकर तहरीर देकर FIR दर्ज कराई। लेकिन यही बात आरोपी डॉक्टरों को नागवार गुजरी और आज हड़ताल पर चले गए। डॉक्टरों के अचानक हड़ताल पर चले जाने से अस्पताल में मरीज दर दर भटकते दिखाई दिए लेकिन डॉक्टर रहे की उनका इलाज करने के बजाय उन्हें अस्पताल से वापस जाने को कह दिया।

 

Facebook Comments