इस महिला ने 65 लोगों के साथ मनाई सुहागरात….

उत्तराखंड पुलिस ने एक ऐसाी महिला को गिरफ्तार किया है जिसने 65 शादियां करके लोगों को ठग लिए। फिल्मी तर्ज पर लोगों के साथ शादी रचाकर उनके घर से नकदी व जेवरात लेकर भाग जाने वाली लुटेरी दुल्हन को कलियर पुलिस ने दबोचने में बड़ी सफलता हालिस की है।

 

उसके साथ उसका नकली पिता व तीन अन्य लोगों भी गिरफ्तार किया गया है। हाल ही में उसके द्वारा अंजाम दी गई वारदात में दुल्हन बनकर लूटे गए जेवरात के साथ ही 35 हजार की नगदी व दो मोबाइल फोन पुलिस ने बरामद किए गए हैं।

क्या था पूरा मामला :
इस पूरे घटनाक्रम की जानकारी आज सिविल लाइन्स कोतवाली में आयोजित पत्रकार वार्ता में देते हुए एसपी देहात मणिकांत मिश्रा ने बताया कि विगत 6 मई को अशोक कुमार पुत्र छत्रपाल सिंह निवासी ग्राम धनौरी थाना पिरान कलियर की धनौरी चौकी पर आकर तहरीर दी कि मुकेश पुत्र अज्ञात निवासी ज्वालापुर हरिद्वार ने कुछ दिन पहले पूजा उर्फ रीता निवास कोटद्वार नाम की लड़की से उसकी शादी तय की थी और यह कहकर कि लड़की बहुत गरीब परिवार से है मुकेश से उसने शादी के खर्च के लिए 50 हजार भी लिए थे। उसके बाद मुकेश ने 2 अप्रैल को पूजा और उसकी शादी रोशनाबाद कोर्ट में कराई।

शादी में पूजा के कथित पिता महेंद्र पाल भी शामिल थे। इस शादी के बाद अशोक अपनी पत्नी को लेकर घर आ गया। उसी रात में पूजा अशोक के धनोरी स्थित घर से पहने हुए जेवरात के साथ ही नगदी लेकर फरार हो गई। अशोक व उसके परिजनों ने पूजा और मुकेश की तलाश की तो पता लगा कि मुकेश ज्वालापुर में किराए के मकान पर रहता था। जहां से वह गायब था, इस मामले की तहरीर मिलने पर कलियर पुलिस ने लुटेरी दुल्हन के खिलाफ धोखाधड़ी की धाराओं में मुकदमा दर्ज किया।

पुलिस ने धर-दबोचा :
एसएसपी कृष्ण कुमार वीके, एसपी देहात मणिकांत मिश्रा तथा सीओ रुड़की स्वप्न किशोर सिंह के दिशा निर्देशन में कलियर थाना अध्यक्ष देवराज शर्मा लुटेरी दुल्हन की तलाश में लग गए। मुखबिर की सूचना पर पुलिस ने मुकेश पुत्र यादराम पुत्र रामकृपाल सिंह निवासी ग्राम कुचलाना थाना चांदपुर जनपद बिजनौर, भोपाल पुत्र नत्थू सिंह निवासी ग्राम मख्वाड़ा थाना कोतवाली जनपद बिजनौर एवं लुटेरी दुल्हन रीता उर्फ पूजा पत्नी पवन निवासी ग्राम झाड़पुरा थाना अफजलगढ़ जनपद बिजनौर के साथ ही अरुण उर्फ मुकेश उर्फ यादराम ग्राम निवासी ग्राम नरेना जनपद बिजनौर को टिबड़ी हरिद्वार से गिरफ्तार कर लिया। उनके कब्जे से शादी में खर्च के लिए दिए गए 50 हजार की नकदी में से 35 हजार के साथ ही जेवरात, मंगलसूत्र, घटना में प्रयुक्त दो मोबाइल फोन बरामद किए गए। आरोपी भोपाल ने बताया कि वह ना तो लड़की का पिता है और ना ही कोटद्वार का रहने वाला है।

Facebook Comments