मंत्री की बहू प्रीति ने शनिवार सुबह फांसी लगाकर सुसाइड की…

मध्यप्रदेशप्रदेश के रामपाल सिंह राजपूत की बहू प्रीति ने शनिवार सुबह फांसी लगाकर सुसाइड कर लिया। इसका कारण मंत्री ने अपने पुत्र गिरजेश की शादी कहीं और करना बताया जा रहा है। प्रीति के पिता चंदन सिंह ने पुलिस में शिकायत कर मंत्री पर बेटी को प्रताड़ित करने के आरोप लगाए हैं। प्रीति ने एक सुसाइड नोट भी छोड़ा है, जिसमें परिवार के लोगों को परेशान न करने की बात लिखी है। फिलहाल इस मामले में केस दर्ज नहीं हुआ है। पापा-मम्मी, मुझे माफ कर देना, मुझसे बहुत बड़ी गलती हो गई

– मृतक प्रीति ने सुसाइड नोट में लिखा है कि, पापा-मम्मी, मुझे माफ कर देना। मुझसे बहुत बड़ी गलती हो गई। इस वजह से आपको बहुत कष्ट उठाने पड़े। इसका दोष किसी को मत देना, न चाचा को, न चाची को। छोटे चाचा और चाची आप दोनों से भी हाथ जोड़कर माफी मांगती हूं। आपने भी बहुत परेशानी भोगी है मेरी वजह से।

– उन्होंने लिखा है ” बड़े पापा आप भी बहुत परेशान हुए हैं। आप सभी से हाथ जोड़कर माफी मांगती हूं। मैंने बहुत बड़ी गलती की है और उसकी सजा भी अब मुझे ही देनी होगी। आप से माफी मांगती हूं। मैं आप सबको अब परेशान नहीं देख सकती हूं और न कर सकती हूं।

– ” पापा, आपसे कुछ मांग रही हूं। आप मम्मी से मत लड़ना कभी। उन्होंने बहुत परेशानी देखी है मेरी वजह से और आप मंझले चाचा सेकुछ नहीं कहेंगे। दीपक, नीरज को अच्छे से रखना। मैं बड़ी थी फिर भी मैंने गलती की और अब मेरे जाने के बाद किसी को कुछ नहीं करेंगे।”

लगातार दबाव बनाया जा रहा था कि बेटी की शादी कहीं और कर लो

– प्रीति के पिता चंदन सिंह ने उदयपुरा पुलिस को दिए गए आवेदन में बताया कि, प्रीति की मां रामा शनिवार सुबह करीब 6 बजे उठी थी। वे बेटी के कमरे में गई तो चीख पड़ी। प्रीति फांसी के फंदे पर झूल रही थी। उनकी आवाज सुन घर के लोग इकट्‌ठा हुए और प्रीति को नीचे उतारा। उसकी सांसें थम चुकी थीं। प्रीति कुछ दिन से परेशान चल रही थी।

– मंत्री रामपाल सिंह के बेटे गिरजेश प्रताप सिंह ने प्रीति से 20 जून 2017 को भोपाल के आर्य समाज मंदिर में शादी कर ली थी। शादी के कुछ दिनों बाद दोनों उदयपुरा लौट आए थे। गिरजेश ने अपने परिवार वालों को मनाने के बाद उसे साथ रखने का भरोसा देकर मायके में छोड़ दिया। तभी से प्रीति मायके में रह रही थी।

– इस शादी से गिरजेश की मां, उनके बड़े भाई दुर्गेश और छोटे भाई खुश नहीं थे। इस कारण ये सभी लोग मिलकर मेरी बेटी को प्रताड़ित करते थे। मंत्री रामपाल सिंह मेरी बेटी को प्रताड़ित करने और उसका जीवन बर्बाद करने के लिए गिरजेश का दूसरी शादी कर रहे थे।

– 14 मार्च को टीकमगढ़ से 40 किमी दूर खरगापुर में सुरेंद्र प्रताप के किले पर गिरजेश का फलदान भी हो चुका था। इसके बाद से प्रीति मानसिक रूप से काफी परेशान हो गई थी। 15 दिन से हम पर दबाव बनाया जा रहा था कि बेटी की शादी कहीं और कर लो। यही वजह रही कि प्रीति ने खुदकुशी कर ली। अत: श्रीमान जी इन लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए।

आर्य समाज मंदिर से शादी

– 30 साल की प्रीति उदयपुरा में पीडब्ल्यूडी मंत्री रामपाल के घर के ठीक सामने रहती थी। उसके पिता सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में एंबुलेंस ड्राइवर थे। मंत्री के बेटे गिरजेश और प्रीति के बीच जान पहचान थी। दोनों ने परिवार से छिपकर भोपाल के नेहरू नगर के पास आर्य समाज मंदिर में शादी कर ली। मंत्री को यह रास नहीं आया और उन्होंने प्रीति को बहू के रूप में कभी नहीं अपनाया। यही विवाद अंतत: उसकी मौत का कारण बना। हालांकि मंत्री कहते हैं कि उन्हें बेटे की शादी की जानकारी नहीं है।

प्रदेश के पीडब्ल्यूडी मंत्री रामपाल सिंह राजपूत ने एक बातचीत में कहा हैबेटे की शादी के बारे में मुझे नहीं पता, प्रीति के परिवार से भी कभी नहीं मिला

आपकी बहू प्रीति ने आत्महत्या कर ली?

-बेटे ने शादी कर ली है, यह मुझे नहीं पता।

आर्य समाज मंदिर ने सर्टिफिकेट जारी किया है?

-मुझे कोई जानकारी नहीं है। यदि ऐसा है तो पुलिस जांच में सच सामने आ जाएगा।

प्रीति के पिता का आरोप है कि ससुराल पक्ष के लोग संबंध तोड़ने का दबाव बना रहे थे।

-मैं चंदन सिंह को जानता हूं। लेकिन कभी उनसे या परिवार के किसी सदस्य से बातचीत नहीं हुई। विपक्ष इस मामले में मुझे और मेरे परिवार को बेवजह घसीट रहा है।

संगठन ने कोई सफाई मांगी है?

-संगठन को सच्चाई से अवगत कराया जाएगा। मुख्यमंत्री भोपाल से बाहर हैं। लौटने पर मिलने का समय लिया जाएगा।

गिरजेश सामने क्यों नहीं आ रहे?

-बेटे से बातचीत हुई। उसने साफ कहा है- उसे फंसाया जा रहा है।

 

Facebook Comments