शनिवार को गर्मी ने तोडा मई महीने का 10 साल का रेकॉर्ड….

मौसम विभाग के आंकड़ों के मुताबिक, शनिवार को गर्मी ने मई महीने का 10 साल का रेकॉर्ड तोड़ दिया। इस दिन अमौसी स्थित आंचलिक मौसम विज्ञान केंद्र में अधिकतम तापमान 44.8 डिग्री सेल्सियस मापा गया, जबकि लखनऊ विवि के जियॉलजी विभाग के मुताबिक, शनिवार को तापमान 47.3 डिग्री था।

यही हाल बाकी दिनों का रहता है। विशेषज्ञों के मुताबिक, अमौसी में पेड़-पौधे ज्यादा होने से वहां गर्मी कम महसूस होती है। इस कारण मौसम विभाग से जारी तापमान हमेशा दो से तीन डिग्री कम होता है।

मौसम विभाग और एलयू के जियॉलजी विभाग में दर्ज किए गए तापमान का मिलान किया। इसमें सामने आया कि एलयू और इसके आसपास के इलाकों में रात का पारा दस दिन से 30 डिग्री सेल्सियस के ऊपर चल रहा है। इसके उलट अमौसी में आंचलिक मौसम विज्ञान केंद्र में न्यूनतम पारा 30 डिग्री सेल्सियस से कम मापा जा रहा है।

इस बारे में मौसम विभाग का तर्क है कि मौसम नापने का एक मानक तय है। इसी हिसाब से शहर में रोजाना का तापमान जारी होता है। वहीं, एलयू के जियॉलजी विभाग के वैज्ञानिकों का कहना है कि कोई भी मापन वेदर स्टेशन नियमों के अनुरूप लगाया जाता है, जो सिर्फ 6 किमी के दायरे के इलाकों का तापमान बताता है।

एलयू के जियॉलजी विभाग के प्रफेसर ध्रुव सेन सिंह का कहना है कि मौसम विभाग का मापन मीटर शहर के बाहर है, जहां पेड़ों की संख्या, कंक्रीट की इमारतें और गाड़ियों की आवाजाही कम है। इसके चलते यहां शहर के दूसरे इलाकों के मुकाबले तापमान कम दर्ज होता है, जबकि एलयू में लगा मापन मीटर शहर के बीचो-बीच है। यह मीटर हजरतगंज, अलीगंज, महानगर, चौक और गोमतीनगर का क्षेत्रों का तापमान कवर करता है। यहां पेड़ों की कमी के साथ गाड़ियों की आवाजाही भी अधिक है।

Facebook Comments