बेटी को गोद लेने की पहली एनिवर्सरी पर सनी की इमोशनल पोस्ट

सनी लियोनी ने 2017 में महाराष्ट्र के लातूर से 21 महीने की बेटी निशा को गोद लिया था। बेटी को सनी की फैमिली में साथ रहते एक साल पूरा हो गया है। सनी ने बेटी की पहली एनिवर्सरी सेलिब्रेट करते हुए एक इमोशनल पोस्ट किया। उन्होंने लिखा,’एक साल पहले हमारी जिंदगी बदल गई, जब हम तुम्हें अपने घर लाए थे। आज तुम्हारी (निशा) पहली सालगिरह है। यकीन नहीं कि बस एक साल ही हुआ है क्योंकि मुझे ऐसा लगता है कि तुम्हें लाइफटाइम से जानती हूं। तुम मेरे दिल और आत्मा का हिस्सा हो और इस दुनिया की सबसे खूबसूरत लड़की हो।’सनी की फैमिली में सेरोगेसी से हुए 2 जुड़वां बेटे नोह और अशर भी हैं।

11 परिवारों ने किया था निशा को गोद लेने से मना…

– सनी लियोनी ने जिस बच्ची को अडॉप्ट किया था उसे पहले करीब 11 पेरेंट्स ने अपनाने से इंकार कर दिया था।बच्ची को न अपनाने की बड़ी वजह उसका काला रंग बताया गया था। बच्चों को गोद देने वाली चाइल्ड अडॉप्शन रिसोर्स एजेंसी (सीएआरए) के सीईओ, लेफ्टिनेंट कर्नल दीपक कुमार ने इस बात का खुलासा किया था।

-कर्नल ने कहा था, “ज्यादातर फैमिली बच्चे के रंग, चेहरे और बच्चे की मेडिकल हिस्ट्री को लेकर बेहद उत्सुक रहते हैं और इन्हीं वजहों से बच्चों को अपनाया या ठुकराया जाता है। यही वजह रही कि निशा को 11 फैमिली ने अडॉप्ट करने से इंकार किया था।सनी और उनके पति डेनियल ने इन सब में कोई दिलचस्पी नहीं दिखाई। सनी ने बच्ची के बैकग्राउंड, रंग, मेडिकल हिस्ट्री जैसी चीजों की परवाह न करते हुए उसे गोद लिया था।”

9 महीनों की प्रोसेस के बाद मिली सनी को बच्ची

– दीपक कुमार ने बताया था, “सनी ने अन्य फैमिलीज की तरह ही लाइन में लगकर अपनी बारी आने का इंतजार किया। हम इस बात की इज्जत करते हैं कि उन्होंने नियमों को तोड़े बिना ही सारी फॉर्मेलिटीज पूरी कीं।सनी ने 30 सितंबर 2016 को CARA के वेब पोर्टल के जरिए बच्चे को गोद लेने के लिए आवेदन किया था। आवेदन के लगभग 9 महीनों बाद 21 जून 2017 को उन्हें इस बच्ची के बारे में बताया गया। जिसे उन्होंने अडॉप्ट कर लिया।”

Facebook Comments