DPS ग्रेटर नोएडा में नर्सरी की बच्ची के साथ कोच ने किया रेप

ग्रेटर नोएडा के डीपीएस स्कूल में नर्सरी की छात्रा के साथ तीन दिन पहले स्विमिंग पूल के पास तैनात रहने वाले लाइफ गार्ड ने दुष्कर्म किया था। मामले की शिकायत पीड़ित छात्रा ने परिजनों से की। परिजनों ने स्कूल प्रबंधन से मामले की शिकायत की लेकिन प्रबंधन ने कोई कार्रवाई नहीं की। परिजनों की शिकायत पर कोतवाली सूरजपुर पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।

ग्रेटर नोएडा के गामा- दो सेक्टर में स्थित दिल्ली पब्लिक स्कूल में साढ़े तीन साल की बच्ची के साथ स्वीमिंग पूल के पास तैनात रहने वाले लाइफ गार्ड चंडीदास ने दुष्कर्म किया। गुरुवार 12 जुलाई को स्कूल परिसर में हुई दुष्कर्म की घटना की जानकारी होने के बाद भी स्कूल प्रबंधन ने दो दिन तक घटना को दबा कर रखा। आरोप है कि प्रबंधन ने मामले को दबाने का प्रयास किया लेकिन बच्ची के माता-पिता ने कोतवाली सूरजपुर जाकर मामले की रिपोर्ट दर्ज करा दी। जांच के बाद पुलिस ने दुष्कर्म के आरोपी चंडीदास निवासी ग्रीनवुड सोसायटी ग्रेटर नोएडा को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।

बच्ची के बताने पर खुला मामला: 

ग्रेटर नोएडा की एक सोसाइटी में रहने वाले एक व्यक्ति ने सूरजपुर पुलिस से शिकायत करते हुए बताया था कि गुरुवार दोपहर उनकी बेटी जब स्कूल से घर आई तो वह दर्द से रो रही थी। मां के पूछने पर परेशान बेटी कुछ बता नहीं पाई। मां ने तुरंत मामले की जानकारी बेटी के पिता को दी। पिता के घर आने पर माता-पिता दोनों बेटी को दिल्ली स्थित एक अस्पताल में लेकर गए जहां जांच के दौरान पता चला कि बेटी के साथ दुष्कर्म हुआ है। मेडिकल में बच्ची के गुप्तांग पर गंभीर चोट आई है। परिजनों ने तुरंत मामले की सूचना सूरजपुर पुलिस को दी। पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर आरोपी चंडीदास को गिरफ्तार कर लिया।

अन्य मामले:

1: 27 अक्टूबर 2017 को कोतवाली सूरजपुर क्षेत्र में स्थित कौशल्या वल्र्ड स्कूल का कर्मचारी विदेशी छात्र के साथ कुकर्म के मामले में गिरफ्तार हुआ था।
2: वर्ष 2015 में ग्रेटर नोएड के एक निजी स्कूल में दसवीं की छात्रा के साथ दुष्कर्म का प्रयास का मामला दर्ज हुआ था।
3: वर्ष 2016 में कासना कोतवाली क्षेत्र के एक स्कूल में छात्रा के साथ स्कूल के शिक्षक ने दुष्कर्म का प्रयास किया था।

स्कूल के खिलाफ कार्रवाई की मांग:

घटना की जानकारी होने के बाद ग्रेटर नोएडा के कई सामाजिक संगठनों के कार्यकर्ताओं ने स्कूल के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। इन लोगों की मांग है कि आए दिन होने वाली इस तरह की घटनाओं की रोकथाम के लिए स्कूल प्रबंधन कोई सख्त कार्रवाई नहीं कर रहा है, इसलिए प्रशासन को स्कूल प्रबंधन के खिलाफ कठोर कदम उठाने चाहिए।

सुरक्षा व्यवस्था पर सवाल:

घटना के बाद से डीपीएस स्कूल की सुरक्षा व्यवस्था पर सवाल उठने लगे हैं। पुलिस ने बताया कि स्कूल में सीसीटीवी लगे हुए हैं लेकिन घटना की जांच के दौरान अधिकांश कैमरे खराब मिले हैं। इसको लेकर स्कूल से जवाब मांगा गया है।

सोशल मीडिया पर कार्रवाई को लेकर बहस:

बच्ची के साथ स्कूल के कर्मचारी द्वारा दुष्कर्म किए जाने की जानकारी होने के बाद ग्रेटर नोएडा में स्कूल के खिलाफ कार्रवाई करने को लेकर सोशल मीडिया में बहस छिड़ गई। आरोपी की गिरफ्तारी के बाद व्हाट्सएप, फेसबुक और ट्विटर पर सख्त कार्रवाई को लेकर लोग सरकार और प्रशासन के खिलाफ अपना गुस्सा निकालते दिखाई दिए

बच्ची के माता-पिता द्वारा की गई शिकायत पर पुलिस 13 जुलाई को आरोपी को गिरफ्तार करने के लिए स्कूल में आई थी। आरोपी स्कूल में अस्थायी कर्मचारी था जिसे स्वीमिंग पूल की देखरेख के लिए रखा गया था। परिजनों ने स्कूल प्रशासन से कोई शिकायत नहीं की थी।  
रेनू चतुर्वेदी, प्रधानाचार्या, डीपीएस ग्रेटर नोएडा

परिजन की तहरीर पर रिपोर्ट दर्ज कर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है। छात्रा के मेडिकल में दुष्कर्म की पुष्टि हुई है। स्कूल प्रबंधन से भी पूछताछ की जा रही है। 
मनोज पंत, प्रभारी निरीक्षक, कोतवाली सूरजपुर

Facebook Comments