गंवानी पड़ी नौकरी, IPS की काली कमाई पर सख्त कार्रवाई

मध्य प्रदेश सरकार की सिफारिश पर केंद्र सरकार ने 1995 बैच के भारतीय पुलिस सेवा के एक अधिकारी को सार्वजनिक हित में तत्काल प्रभाव से समय से पहले सेवानिवृत्त करने का फैसला किया है।

गौरतलब है कि लोकायुक्त पुलिस ने मई 2014 में आईपीएस अधिकारी 51 वर्षीय मयंक जैन के ठिकानों पर छापे मारे थे और उनके द्वारा अवैध तरीके से जमा की गई संपत्ति का खुलासा करने का दावा किया था।

इन छापों के बाद जैन सेवा से निलंबित कर दिया गया था।

एक अधिकारी ने बताया कि प्रदेश सरकार ने केंद्र को मार्च में जैन को समय से पहले सेवानिवृत्त करने के लिए कहा था।

उन्होंने कहा कि प्रदेश में किसी आईपीएस अधिकारी को समय से पहले सेवानिवृत्त करने का यह पहला मामला है।

प्रदेश गृह विभाग के प्रमुख सचिव मलय श्रीवास्तव ने बताया कि प्रदेश सरकार ने केंद्र सरकार का यह आदेश मयंक जैन को 13 अगस्त सोमवार को दे दिया है।

Facebook Comments