आखिर क्यों दिए हनुमान जी ने भीम को अपने शरीर के 3 बाल, एक अनसुनी कथा जो बेहद कम को है पता

महाभारत का युद्ध समाप्त होने के बाद भीम हस्तिनापुर की तरफ लौट रहे थे | रास्ते में उनकी भेंट हनुमान जी से हुई| दोनों ही वायु पुत्र थे इस कारण हनुमान जी ने अपने अनुज भीम को शरीर के तीन बाल दिए और भीम से कहा कि यह संकट के समय तुम्हारी रक्षा करेगा|

काफी दौड़ने के बाद जब भीम ने पीछे मुड़कर देखा तो पाया कि मृगा उन्हें बस पकड़ने ही वाले हैं, भीम अत्यंत घबरा गये | तब उन्हें हनुमान जी के दिए बालों की याद आई और भीम ने दौड़ते हुए एक बाल को जमीन पर फेंक दिया|

वह बाल जमीन पर गिरते ही लाखों शिवलिंग में परिवर्तित हो गया | चूंकि ऋषि मृगा शिव भक्त थे इसी कारण वे प्रत्येक शिवलिंग को प्रणाम करने के बाद ही आगे बढ़ते| इस प्रकार भीम हस्तिनापुर पहले पहंच गये और उनके प्राण बच गये |

Facebook Comments