ऐसा है अटल का परिवार, जानिए कौन हैं उनकी दत्तक पुत्री

पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी नहीं रहे. उन्होंने एम्स में 5 बजकर 5 मिनट पर अंतिम सांस ली. 93 साल के वाजपेयी लंबे वक्त से बीमार थे और 2009 से व्हीलचेयर पर थे. वे शादीशुदा नहीं थे. उन्होंने शादी नहीं की. उनकी दत्तक पुत्री नमिता हैं.  उनके परिवार के बाकी लोग मध्य प्रदेश के ग्वालियर में रहते हैं.

ऐसा है अटल का परिवार, जानिए कौन हैं उनकी दत्तक पुत्री

अटल बिहारी वाजपेयी का जन्म 25 दिसंबर, 1924 को मध्यप्रदेश के ग्वालियर के शिंदे का बाड़ा मोहल्ले में हुआ था. उनके पिता पंडित कृष्णबिहारी वाजपेयी टीचर थे और मां कृष्णा देवी घरेलू महिला थीं.

ऐसा है अटल का परिवार, जानिए कौन हैं उनकी दत्तक पुत्री

अटल के परिवार में उनके माता-पिता के अलावा तीन बड़े भाई अवधबिहारी, सदाबिहारी और प्रेमबिहारी वाजपेयी और तीन बहनें थीं. उनकी प्रारंभिक शिक्षा सरस्वती शिक्षा मंदिर, बाड़ा में हुई. इसके अलावा अटल के ग्वालियर में कई रिश्तेदार हैं. इनमें

भतीजी कांति मिश्रा और भांजी करुणा शुक्‍ला हैं. वहीं, ग्वालियर में अटलजी के भतीजे दीपक वाजपेयी और भांजे सांसद अनूप मिश्रा परिवार सहित दिल्ली पहुंचे हैं.

 

ऐसा है अटल का परिवार, जानिए कौन हैं उनकी दत्तक पुत्री

ऐसा है अटल का परिवार, जानिए कौन हैं उनकी दत्तक पुत्री

बाड़ा से ही उन्होंने आठवीं कक्षा तक की शिक्षा प्राप्त की. बाद में ग्वालियर के विक्टोरिया कॉलेज में उनका दाखिला हुआ. यहां से उन्होंने इंटरमीडिएट तक की पढ़ाई की.

ऐसा है अटल का परिवार, जानिए कौन हैं उनकी दत्तक पुत्री

कॉलेज जीवन में ही उन्होंने राजनीतिक गतिविधियों में भाग लेना शुरू कर दिया था. फिर ग्वालियर से स्नातक उपाधि प्राप्त करने के बाद वे कानपुर चले गए. यहां उन्होंने डीएवी कॉलेज में प्रवेश लिया.

ऐसा है अटल का परिवार, जानिए कौन हैं उनकी दत्तक पुत्री

हालांकि, राजनीति में जाने के बाद अटल अविवाहित रहे. हालांकि, 1998 में जब वे 7, रेसकोर्स रोड में रहने पहुंचे तो उनकी दोस्त राजकुमारी कौल की बेटी और उनकी दत्तक पुत्री नम्रता और उनके पति रंजन भट्टाचार्य का परिवार भी साथ रहने आया.

ऐसा है अटल का परिवार, जानिए कौन हैं उनकी दत्तक पुत्री

राजकुमारी कौल के बारे में बताया जाता है कि जब अटल प्रधानमंत्री थे तब कौल वाजपेयी के घर की सदस्य थीं. उनके निधन के बाद वाजपेयी के आवास से जो प्रेस रिलीज जारी की गई थी, उसमें उन्हें वाजपेयी के ‘घर का सदस्य’ संबोधित किया गया था.

Facebook Comments