इन ऐप्स से आप करते हैं रेलवे टिकट तो चुकाने पड़ेंगे ज्यादा पैसे

अब तक ट्रेन टिकट बुकिंग के लिए यात्री अब तक किसी भी ई-वॉलेट या पेमेंट ऐप के माध्यम से टिकट बुक करवा लेते थे। इसके लिए उन्हें कई तरह की अच्छी डील्स और ऑफर्स भी मिलते थे। लेकिन अब इन थर्ड पार्टी एप्स के माध्यम से टिकट बुक करना महंगा पड़ सकता है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार यात्री अगर भारतीय रेलवे की टिकट बुकिंग प्लेटफार्म IRCTC के अलावा किसी भी थर्ड पार्टी ऐप या वेबसाइट से रेलवे टिकट बुक करते हैं तो उनके लिए उन्हें अतिरिक्त चार्ज देना पड़ सकता है।

टिकट बुक करने पर देना होगा ज्यादा किराया

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, अगर यात्री अपना रेलवे टिकट पेटीएम, मोबिक्विक, मेकमायट्रिप, यात्रा और क्लियरट्रिप जैसे थर्ड पार्टी ऐप या वेबसाइट से बुक करता है तो उसे ज्यादा चार्ज देना होगा। इन थर्ड पार्टी ऐप या वेबसाइट से टिकट बुक करने पर यात्री को रिजर्वेशन टिकट के वास्तविक किराया से 12 रुपये ज्यादा खर्च करना पड़ेगा। इसके अलावा मोबाइल वॉलेट का इस्तेमाल करके टिकट बुक करने पर भी 12 रुपये ज्यादा खर्च करना होगा।

इस वजह से देना होगा ज्यादा चार्ज

थर्ड पार्टी ऐप या वेबसाइट से IRCTC वार्षिक रखरखाव शुल्क वसूल करती है। इसके अलावा IRCTC, 5 रुपये डिस्प्ले विज्ञापनों के लिए और 15 रुपये कैशबैक आदि का शुल्क भी इन कंपनियों से वसूल करेगी। इसके अलावा अगर इन ऐप या वेबसाइट पर किसी अन्य कंपनी का कोई भी उत्पाद बेचा जाता है तो उससे 25 रुपये प्रति टिकट के हिसाब से वसूला जाएगा। यही कारण है कि ये थर्ड पार्टी ऐप या वेबसाइट इन शुल्कों को यात्री के टिकट में जोड़ के वसूल करेंगी। जिसकी वजह से इन ऐप्स या वेबसाइट्स से रेलवे टिकट बुक करना यात्रियों के लिए मंहगा हो सकता है।

टिकट कैंसल और रिफंड के नियमों में भी हुआ बदलाव

IRCTC ने कुछ दिन पहले ही ऑनलाइन या काउंटर टिकट कैंसल करने के नियमों में भी बदलाव किया था। नए नियमों के मुताबिक यात्री अब काउंटर से खरीदा हुआ टिकट भी ऑनलाइन कैंसल कर सकते हैं।

Facebook Comments