बड़ा खुलासा : सप्लायर ने बताया एक-एक नाम,ड्रग्स लेते हैं बॉलीवुड के कई बड़े स्टार….

एंटी नारकोटिक्स सेल की गिरफ्त में एक ऐसा शख्स आया है जिसे बॉलीवुड का सबसे बड़ा ड्रग्स सप्लायर बताया जा रहा है। जांच में सामने आया है कि यह बॉलीवुड में कई बड़े नामचीन लोगों को ड्रग्स सप्लाई करता था। फिलहाल पुलिस इसे पूछताछ कर रही है।

इसके पास से कई बड़े स्टार्स के फोन नंबर भी मिले हैं। जांच में सामने आया है कि यह बड़े स्टार्स संग अपनी फ्रेंडशिप दिखाने के लिए उनके संग फोटोज खिंचवाता था। सोमवार को इसे मुंबई की कोर्ट में पेश किया जाएगा।

मुंबई एंटी नारकोटिक्स सेल के मुताबिक, गिरफ्त में आए शख्स का नाम बकुल चंदेरिया है। जांच में सामने आया है कि इसके रिश्ते बॉलीवुड के ‘A’ लेवल के सितारों से हैं। सूत्रों की मानें तो यह नैरोबी से ड्रग्स का धंधा चलाता है। जांच में यह भी आया है कि इसका रिलेशन नारकोटिक्स डीलर विक्की गोस्वामी और ममता कुलकर्णी से है।

 

बकुल के सारे क्लाइंट्स बॉलीवुड के सितारे हैं और वो मुंबई और बैंगलोर के तमाम पांच सितारा होटलों के डिस्को और पब में कोकीन और एलएसडी(Lysergic acid diethylamide)की सप्लाई करता है। बकुल के खिलाफ एनडीपीएस एक्ट की धारा 8 ( c ), r/w 21 (c) और 22 के तहत केस दर्ज किया गया है।

नारकोटिक्स सेल को बकुल के पास से पंद्रह लाख का ड्रग्स बरामद हुआ है। उसके पास से 106 ग्राम कोकीन और 90 LSD डॉट्स मिले हैं। अभी भी बकुल के खार वाले फ्लैट पर तलाशी की जा रही है। तलाशी में बकुल के घर से कई डायरियां मिली हैं जिसमे कई बॉलीवुड सितारों के नाम हैं। इसमें सितारों से पैसों के लेनदेन का हिसाब है। मामले की तफ्तीश कर रहे एक अफसर की मानें तो पूछताछ में भी बकुल ने कई एक्टर्स के नाम बताएं। आने वाले समय में उनसे पूछताछ हो सकती है।

 

जांच में यह भी सामने आया है कि बकुल ने हाल ही में हवाला के जरिए करीब तीन करोड़ रुपयों का लेनदेन किया है। पैसों का ये लेनदेन साउथ अफ्रीका और नैरोबी से किया गया है। यही नहीं बकुल ने बॉलीवुड के एक बड़े सितारे की फिल्म में भी करीब पांच करोड़ रुपये लगाए

इससे पहले भी बकुल को मुंबई के जुहू इलाके में ओकवुड होटल में चल रहे ड्रग्स पार्टी के बाद हिरासत में लिया गया था। सूत्रों की मानें बकुल पिछले दस सालों से बॉलीवुड में लोगों को ड्रग्स सप्लाई का काम करता आ रहा है। बकुल चंदेरिया खार इलाके में सर्वोदय वीडियो सेंटर की आड़ में अपना धंधा चलाता था। साल 2012 में भी पुलिस ने इसके वीडियो सेंटर पर छापेमारी की थी।

 

Facebook Comments