Breaking : मुजफ्फरपुर बालिका गृह के अंदर जांच में जुटी CBI की टीम,बुलाई गई JCB, खुदाई की तैयारी

बिहार के मुजफ्फरपुर बालिका गृह में CBI की टीम जांच के लिए पहुंची है। बालिका गृह में भारी संख्या में पुलिस बल तैनात हैं।

सीबीआई की टीम ने JCB मशीन बुलाई थी। टीम खुदाई करने की तैयारी में है। इसके अलावा जांच के लिए सीबीआई ने सेंट्रल फॉरेंसिक साइंस लेबोरेट्री से विशेषज्ञों की टीम भी बुलाई है। ताकि कमरों की छानबीन की जा सके और अभियुक्तों के खिलाफ सबूत इकट्ठा किया जा सक। बता दें कि इस मामले में अब तक 10 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है।

बालिका गृह में बच्चियों से दुष्कर्म का मामला तब सामने आया जब बालिका गृह की बच्चियों की मेडिकल रिपोर्ट में रेप की पुष्टि की गई। रिपोर्ट में बताया गया कि 42 बच्चियों में से 34 के साथ दुषकर्म हुआ है। 30 जुलाई को बिहार सरकार ने इसकी जांच सीबीआई को सौंप दी थी। मुजफ्फरपुर बालिका गृह कांड पर लगातार विरोध और आलोचनाओं के बाद समाज कल्याण मंत्री मंजू वर्मा ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया था। मंजू वर्मा ने अपना इस्तीफा तब दिया जब मुजफ्फरपुर कांड के मुख्य आरोपी बृजेश ठाकुर ने मंत्री के पति के साथ सांठगांठ की बात कबूली।

मुंबई स्थित टाटा इंस्टीट्यूट ऑफ सोशल साइंसेज (टिस्स) की ओर से अप्रैल में बिहार सरकार के समाज कल्याण विभाग को एक रिपोर्ट सौंपी गई थी जिसमें पहली बार इस आश्रय गृह में रह रही लड़कियों से कथित दुष्कर्म की बात सामने आई थी। इस मामले में बीते 31 मई को ब्रजेश ठाकुर सहित 11 लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई थी। वहीं,   बालिका गृह रेप कांड के मुख्य आरोपी बृजेश ठाकुर के ऊपर स्याही फेंकी गई है। साथ ही उसके मुंह पर कालिख भी पोती गई है।

मुजफ्फरपुर बालिका गृह मामले में बिहार सरकार की कार्रवाई तेज होती जा रही है। इससे पहले सरकार ने 14 जिलों में समाज कल्याण विभाग में कार्यरत सहायक निदेशक और बाल संरक्षण पदाधिकारी पद पर तैनात अधिकारियों को निलंबित कर दिया। वहीं मंगलवार को मुजफ्फरपुर SSP हरप्रीत कौर ने कार्रवाई करते हुए इंस्पेक्टर विनोद कुमार सिंह को लापरवाही बरतने के मामले में निलंबित कर दिया।

Facebook Comments