इस समय जन्मे बच्चे दुनिया में होते हैं सबसे भाग्यशाली

आपने देखा होगा बहुत से लोग बेहद भाग्यशाली होते हैं. वे जिस भी चीज पर हाथ रख दें वो सोना हो जाती है या जिस भी काम में हाथ डालते हैं वो सफल हो जाता है. क्या आप जानते हैं इन लोगों की किस्मत इतनी अच्छी होने के पीछे क्या कारण है?

अगर आप पहली बार हमारे पेज पर आएं हैं तो पीली पट्टी पर लिखे फॉलो बटन को दबाएं. इससे आपके पास ढेर सारी जानकारियां आएंगी.

आज हम बात कर रहे हैं ऐसे लोगों के बारे में जो बेहद भाग्यशाली होते हैं. दरअसल, भाग्यशाली होने के पीछे आपके जन्म का समय भी निर्भर करता है. आप किस महीने में, किस नक्षत्र में यानि किस मुहूर्त में पैदा हुए हैं इससे आपका भाग्य निर्भर करता है.

  • आमतौर पर माना जाता है कि जो बच्चे भाग्यशाली होते हैं वे शनिवार के दिन पैदा होते हैं और शनि की उन पर कृपा होती है.
  • वहीं एक सर्वे में पाया गया था कि मई के महीने में पैदा होने वाले बच्चे सबसे ज्यादा भाग्यशाली होते हैं.
  • आमतौर पर कृष्ण जन्माष्टमी के समय पैदा हुए बच्चे सबसे ज्यादा भाग्याशाली कहे जाते हैं. ऐसा माना जाता है कि वे भगवान का रूप होते हैं.
  • ज्योतिष शास्त्र के अनुसार माने तो अभिजित मुहुर्त के समय पैदा हुए बच्चे सबसे ज्यादा भाग्यशाली होते हैं. ये एक खास किस्म का मुहूर्त होता है. इसमें मुहूर्त शुरू होने के 12 मिनट और अंतिम 12 मिनट बेहद खास होते हैं. इस समय पैदा हुआ बच्चा भी सबसे भाग्यशाली माना जाता है.
  • अभिजित मुहुर्त सुबह और रात दो समय होता है. दोनों में ही 12-12 मिनट एक समान होते हैं.
  • कहते हैं अभिजित मुहुर्त के समय जन्मे बच्चे की आयु बहुत लंबी होती है.
  • अभिजित मुहुर्त सूर्योदय से लेकर आठवें पहर के आधे हिस्से को कहा जाता है. यानि आठवें पहर के शुरू के 12 मिनट से लेकर अंतिम 12 मिनट के बीच के समय को अभिजित मुहुर्त कहते हैं.
  • ठीक वैसे ही रात में सूर्यास्त से लेकर रात के आठवें पहर के शुरू के 12 मिनट और अंतिम 12 मिनट के बीच को अभिजित मुहुर्त कहा जाता है. इन दोनों मुहूर्त में पैदा हुआ बच्चा दुनिया का सबसे भाग्यशाली बच्चा कहलाता है. बतातें चलें सभी शुभ काम भी इसी अभिजित मुहुर्त में ही किए जाते हैं.
Facebook Comments