Lifestyle: अपने बच्चों को स्वस्थ भोजन देने के 6 तरीके

बच्चों को सब्जियां खिला पाना हर माता-पिता के लिए एक दुःस्वप्न है।

ज्यादातर बच्चे खाने के मामले में अक्‍सर नुक्‍ताचीनी करते हैं और जंक फूड खना पसंद करते हैं, जिससे समस्‍या दोगुनी हो जाती है! बच्‍चों को स्‍वस्‍थ भोजन देना सुनिश्‍चित करना बहुत ही टेढ़ा काम है। माता-पिता के रूप में, हमारी आदत दबाव डालने की होती है। लेकिन यह नहीं करना चाहिए, क्योंकि इससे बच्‍चा हमारे द्वारा बताई गई हर बात को समझने में रुचि लेना बंद कर देता है। हालांकि, अपने बच्चों को स्वस्थ भोजन देने के निम्‍नलिखित अन्य तरीके भी हैं:

  1. उनको चुनने की आजादी दें – हर कोई, चाहे वह बच्‍चा हो या बड़ा व्‍यक्‍ति, जीवन में, विशेष रूप से खाने के मामले में अपना चुनाव स्‍वयं करना पसंद करता है। तो ऐसी स्‍थिति में आप समझदारी से काम लें, और अपने बच्चों को चुनने के लिए केवल स्वस्थ विकल्प दें। उदाहरण के लिए, अगर आप फलों का सलाद बना रही हैं, तो अपने बच्चे को सलाद में अपनी पसंद का फल चुनने दें; उन्हें सलाद के लिए टॉपिंग का चयन करने दें। जब बच्चे चुनने के लिए स्वतंत्र होते हैं, तो वे प्रसन्‍नतापूर्वक भोजन करते हैं!
  2. उनको शामिल करें – अपने बच्चों को अपनी स्वस्थ भोजन बनाने की प्रक्रिया में शामिल करें। इसे बच्चों के साथ मिलकर करें – मेनू बनाना, सामग्री की खरीदारी करना, साथ मिलकर खाना पकाने का अभ्यास करना सबमें उनको साथ में लें। इससे खाने को लेकर बच्चे की रुचि पैदा करने और भूख बढ़ाने में मदद मिलेगी, क्योंकि उसे बनाने में वे भी शामिल रहेंगे, और जैसाकि हम जानते हैं, किसी ने अगर कुछ स्‍वयं बनाया है तो उससे अधिक संतुष्‍टि मिलती है।
  3. छोटी-छोटी बाइट लेने से शुरू करें – अपने बच्चे को स्वस्थ भोजन देना शुरू करते समय यह आदर्श वाक्य याद रखें कि एक बार में एक छोटी बाइट ही लेना चाहिए। यह आपके बच्चों के लिए स्वाद और फ्लेवर का सवाल है। एक सुझाव यह है कि जितना संभव हो सके, जीभ और आंखों दोनों को स्‍वादिष्‍ट लगने वाला भोजन तैयार करें, जो आपके बच्चे को कम से कम एक बाइट लेने के लिए प्रोत्साहित करेगा। अगर आपका बच्चा शुरू में इसको थोड़ा भी पसंद करता है तो आपके के लिए यह अच्‍छी बात होगी।

 

4. दिखायें और बतायें – एक कहावत है कि ‘आंखें जो नहीं देखती हैं, उसे दिमाग भी नहीं जानता है’। अपने बच्चों को दिखायें कि कि भोजन की एक स्वस्थ प्लेट कैसी दिखती है। उसमें उन खाद्य पदार्थों को शामिल करें जिनसे एक स्वस्थ भोजन तैयार होता है जैसे मांस (प्रोटीन), अनाज (कार्बोहाइड्रेट), फल और सब्जियां (खनिज और विटामिन)। बच्चों को हर खाद्य समूह की सही मात्रा बतायें और दिखायें ।

 

5. स्रोत पर जाएं – अगर आप चाहते हैं कि आपके बच्चे फल और सब्जियां खायें, तो पहले उन्हें इन खाद्य पदार्थों के फायदों के बारे में बतायें। इसका मतलब यह नहीं है कि भोजन करने के समय को क्‍लास रूम की पढ़ाई में बदल दें। ऐसा बिल्‍कुल नहीं करें, बल्‍कि इसे दिलचस्प बनायें और प्रत्‍यक्ष जानकारी प्रदान करें।

 

यह देखने के लिए कि फलों और सब्जियों को कैसे उगाया जाता है, अपने बच्चों को नजदीक के सब्जी के खेतों या फलों के बगीचे में ले जाएं। बेहतर होगा कि अपना स्वयं का किचन गार्डेन बनायें, और अपने बच्चों को फल और सब्जियां उगाना सिखायें। आप जो उगा रहे हैं, उसके पोषक तत्‍वों के बारे में चर्चा करें। इस तरह, आपके बच्चों में रुचि जगेगी, और प्रसन्‍नतापूर्वक अपने श्रम से उगाये गये फलों और सब्‍जियों का आनंद लेगे।

6. डिजिटल अपनाओ -बच्चों का पालन-पोषण करने में टेक्‍नोलॉजी कई तरीकों से मां-बाप की मदद करती है। खाने-पीने की आदतों को विकसित करने वाले वीडियो और कंप्यूटर गेम होते हैं हैं जो स्वस्थ खाद्य पदार्थों के बारे में बच्चों की रुचि बनाने में मदद करते हैं। इन खेलों के माध्यम से, बच्चों को तरह-तरह के खाद्य पदार्थों के विज्ञान, इतिहास और संस्कृति के बारे में जानकारी मिलती है। वे जान पाते हैं कि क्या खाना चाहिए, क्यों खाना चाहिए, कब खाना चाहिए, और सही विकल्प चुनने के लिए जागरूकता का होना सबसे जरूरी है।

Facebook Comments