जानिए भूत और चुड़ैल बनकर पार्टी करने की कैसे हुई शुरुआत

वैसे तो आजकल के युवाओं को पार्टी करने के लिए किसी वजह की जरूरत नहीं होती। मगर क्‍या वजह है कि लोग भूत और चुड़ैल बनकर पार्टी करते हैं। मौज-मस्‍ती करते हैं। भूत और चुड़ैल का मेकअप करके जिस मौके पर पार्टी की जाती है उसे हैलोवीन कहते हैं। पाश्‍चात्‍य परंपरा की देन है यह त्‍योहार। आइए जानते हैं कैसे हुई इसकी शुरुआत और इससे जुड़ीं अन्‍य रोचक जानकारियां…

अक्‍टूबर का आखिरी संडे
पूर्वजों की याद में मनाए जाने वाले इस त्‍योहार के लिए अक्‍टूबर के महीने का आखिरी संडे यानी रविवार चुना गया है। संडे से शुरू होकर यह कई दिन तक चलता है। इसमें लोग भूतों का मेकअप करके पार्टी करते हैं।

यहां से हुई थी शुरुआत
हैलोवीन की शुरुआत सबसे पहले आयरलैंड और स्‍कॉटलैंड से हुई थी। मुख्‍य रूप से ईसाई समुदाय के इस त्‍योहार को लेकर मान्‍यता है कि भूतों का गेटअप करने से पूर्वजों की आत्‍माओं को शांति मिलती है। अक्‍टूबर के आखिरी संडे को सेल्टिक कैंलेंडर का आखिरी दिन माना जाता है। अमेरिका, इंग्लैंड और यूरोपियन देशों में इसे नए वर्ष की शुरुआत के तौर पर मनाया जाता है।

Facebook Comments