मेरी मां पर बनी बायोपिक का नाम ‘एक थी स्मिता’ होना चाहिए: प्रतीक बब्बर

अभिनेता प्रतीक बब्बर ने कहा कि अगर उनकी मां के जीवन पर बायोपिक बनती है तो उन्हें बेहद खुशी होगी और इसका नाम ‘एक थी स्मिता’ होना चाहिए। बब्बर ने कहा, “लोगों ने मेरी मां को लेकर बायोपिक बनाने की बात की है। मैं इससे उत्साहित हूं। उन्होंने अपनी छोटी सी जिंदगी में काफी प्रभावशाली जीवन जिया । यह खास है। उन पर बायोपिक बनती है तो मुझे अच्छा लगेगा।’’

बता दें कि स्मिता पाटिल को मराठी और हिंदी सिनेमा की अच्छी अभिनेत्रियों में से एक माना जाता है। पाटिल ने अपने एक दशक के करियर में 80 से ज्यादा फिल्मों में काम किया था। पाटिल ने राज बब्बर से शादी की थी और उनकी मौत 31 साल की उम्र में 1986 में हो गई। उस समय प्रतीक बब्बर महज दो महीने के थे।

अभिनेता ने कहा, “मैं आज भी उन्हें बहुत याद करता हूं। उनकी स्मृति मेरे लिए बहुत प्रेरणादायक रही हैं। मैंने उनकी सारी फिल्में देखी हैं लेकिन सबसे ज्यादा मैंने उन्हें ‘भूमिका’ में पसंद किया है।” बब्बर अभी अपनी आनेवाली फिल्म ‘मुल्क’ के प्रचार में व्यस्त हैं। यह फिल्म तीन अगस्त को रिलीज होगी।

Facebook Comments