मोदी सरकार की बड़ी उपलब्धि, 80 पर्सेंट कम हुआ स्विस बैंकों में जमा भारतीयों का कालाधन

मोदी सरकार में वित्त मंत्री पीयूष गोयल ने लोकसभा में कालेधन को लेकर सरकार द्वारा किए गये कामकाज का ब्योरा पेश किया है।

कालेधन के मुद्दे पर संसद के उच्च सदन राज्यसभा में काफी हंगामा रहा और राज्यसभा रहा और उसे दोपहर 2 बजे तक बंद करना पड़ा। मंगलवार को पीयूष गोयल ने लोकसभा में बताया कि साल 2014 में एनडीए की सरकार के सत्ता में आने के बाद स्विस बैंकों में जमा भारतीयों के कालेधन में पिछले चार सालों में 80 प्रतिशत की कमी आई है।

पीयूष गोयल ने कहा कि हमने स्विस बैंकों में जमा 4000 संपत्तियों की जानकारी मांगी है। जिसके आधार पर सरकार आगे की कार्रवाई कर सकेगी। इससे पहले सामने आई मीडिया रिपोर्टों में ये दावा किया गया था स्विस नेशनल बैंकों में जमा भारतीयों का पैसा पूरा कालाधन नहीं है।

बैंक ऑफ इंटरनेशनल सेटलमेंट की तरफ से जारी आकड़ों में साल 2016 के मुकाबले गैर बैंकीय ऋण और जमा साल 2017 में 34 फीसदी गिर गया है। स्विस बैंकों में जमा धन हमेशा काल धन नहीं होता है इसमे गैर जमा देनदारियां, अंतर बैंक लेनदेन, भारत में स्विस बैंकों का व्यवसाय और एक दूसरे के बीच भरोसेमंद देनदारिया शामिल है।

भारत के स्विस राजदूत एंड्रियास बाम ने वित्तमंत्री पीयूष गोयल को लिखे अपने पत्र में कहा बीआईएस की ओर से जारी किया गया डेटा स्विस बैंकों जमा भारतीय पैसों की वास्तविक पुष्टि करता है। स्वि्टजरलैंड का स्थानी संख्यकि संगठन एलबीएस जो अंतर्राष्ट्रीय बैंकिग गतिविधि को मापने का काम करता है। एलबीएस ने ये भी बताया है कि स्विस बैंकों में भारतीयों की ओर से जमा कराए जाने वाले पैसों में तेजी से कमी आ रही हैं।

Facebook Comments