Uttar Pradesh : कब्र खोदकर निकाला गया सीबीआई के गवाह का शव

घर वालों के विरोध के बावजूद डीएम के आदेश पर सीबीआई गवाह यूनुस खान का शव शनिवार रात कब्र खोदकर बाहर निकाल लिया गया। रात में ही यूनुस के पोस्टमार्टम की तैयारी पूरी कर ली गई है। उधर, गांव में तनाव के मद्देनजर भारी पुलिस फोर्स तैनात कर दिया गया है।

शनिवार को पूरे दिन यूनुस के परिवार को समझाने-बुझाने का दौर चला, तमाम जद्दोजहद के बाद भी परिवार शव निकालकर पोस्टमार्टम के लिए तैयार नहीं हुआ। रात में एसपी हरीश कुमार और एडीएम वीएन यादव, शहर काजी मौलाना निसार अहमद मस्बिाही अौर अन्य मुस्लिम धर्म गुरुओं के साथ कब्रस्तिान पहुंचे। मौलानाओं ने अपनी रजामंदी दी और कहा कानून के आगे कुछ नहीं है। यूनुस के परिवार का कोई सदस्य वहां नहीं पहुंचा।

रात में लगभग सवा आठ बजे कब्र की खुदाई शुरू हुई और सवा नौ बजे शव को कब्र से बाहर निकाला गया। हंगामे अौर बवाल की आशंका को लेकर पहले से ही गांव में भारी पुलिस बल तैनात कर लिया गया था। धर्म गुरुओं और गांव के लोगों से हस्ताक्षर करवाकर शव पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया जहां डाक्टरों की टीम पहले से तैनात थी। अधिकारियों ने बताया रात में ही पोस्टमार्टम कराकर धर्म गुरुओं की मौजूदगी में ससम्मान शव फिर दफना दिया जाएगा।

दिनभर प्रशासन और घरवालों में चली रस्साकशी

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के ट्वीट के बाद हरकत में आया प्रशासन शनिवार सुबह उन्नाव रेपकांड में सीबीआई के कथित गवाह यूनुस खान का पोस्टमार्टम कराने के लिए सराय मोहल्ला में पहुंचा तो घरवालों ने सहमति देने से इनकार कर दिया। प्रशासन और यूनुस के घरवालों से कई बार बातचीत हुई, लेकिन वह माने नहीं। प्रशासन की मुस्लिम धर्म गुरू और यूनुस के रिश्तेदारों से पहले दौर की बातचीत नाकाम रही। इसके बाद शाम को एसपी हरीश कुमार माखी थाने पहुंचे। उन्होंने वहां मुस्लिम धर्मगुरुअों के साथ सलाह मश्विरा कर कब्र खोदने का फैसला किया।

Facebook Comments