ब्रजेश ठाकुर के शेल्टर होम की छत से मिला यूज्‍ड कंडोम से भरी टंकी

मुजफ्फरपुर बालिका गृह यौन उत्पीड़न मामले में ब्रजेश ठाकुर के एक से एक कारनामे सामने आ रहे हैं। ब्रजेश ठाकुर के एक दूसरे महिला केंद्र स्वधार गृह गृह से शराब की बोतलें और भारी मात्रा में इस्‍तमाल किए गए कंडोम बरामद हुए हैं।

जानकारी के मुताबिक एफएसएल की छह सदस्यीय टीम ने चार कमरों के ताले को तोड़ा तो ये सारी चीजें बरामद हुई हैं। स्वाधार गृह पर अभी भी जांच पड़ताल चल रही है। पूरे परिसर की तलाशी की जा रही है। मौके पर एफएसएल टीम के साथ महिला थानाध्यक्ष ज्योति कुमारी और इस केस की आईओ कलावती कुमारी भी मौजूद थीं।

बता दें कि मुजफ्फरपुर बालिका गृह में में बच्चियों से रेप का शर्मनाक मामला सामने आने के बाद एक और शेल्टर होम से संदिग्ध खबरें आई थीं। जिसके बाद इस स्वाधार गृह पर आज पुलिस ने कार्रवाई की। बीते 9 जून को सरकार के आदेश पर स्वधार में रहने वाली 16 महिलाओं को बेगूसराय शिफ्ट कर दिया गया था। जब्त कागजात की समीक्षा से यह पता चला था कि यहां से 11 महिलाएं गायब हैं।

इससे पहले, ब्रजेश ठाकुर के संरक्षण में चलने वाले मुजफ्फरपुर स्थित बालिका गृह से 34 लड़कियों से दुष्कर्म की पुष्टि हो चुकी है। यह पूरा मामला तब प्रकाश में आया, जब टाटा इंस्टिट्यूट ऑफ सोशल साइंस (TISS) की ऑडिट रिपोर्ट सामने आई। 31 मई को बिहार सरकार को सौंपी गई। इस रिपोर्ट में खुलासा हुआ कि कैसे इन बालिका गृह में छोटी-छोटी बच्चियों का शोषण किया जाता रहा है।

क्या है स्वाधार गृह सहायक निदेशक ने बताया कि स्वधार गृह में परिवार से अलग हो चुकी महिलाएं रहती थीं। ऐसी महिलाओं को स्वधार गृह में रोजगार का प्रशिक्षण भी दिया जाता था। ब्रजेश ठाकुर के एनजीओ को कुल पांच शेल्टर होम चलाने की जिम्मेदारी दी गई थी जिनमें से एक स्वाधार गृह था। स्वाधार गृह केंद्र सरकार की ओर से चलाई जाने वाली योजना है जिसमें बेघर महिलाओं को स्वावलम्बी बनाने के लिए व्यावसायिक प्रशिक्षण दिया जाता है।

Facebook Comments