चाय बनाने के बाद बची चायपत्ती के ये हैं फायदे …

हर घर में रोज चाय बनती है। चाहे वह ग्रीन टी हो या ब्लैक टी और या फिर दूध वाली चाय। चाय बनने के बाद अक्सर हम चाय की पत्तियां फेंक देते हैं।

हमें यह नहीं पता होता कि यूज होने के बाद चायपत्ती का क्या किया जाए, इसलिए अक्सर लोग चाय की पत्तियों को कूड़े में डाल देते हैं। तो चलो आज हम आपको बताएंगे कि कैसे चाय की पत्तियों का इस्तेमाल दोबारा कर सकते हैं?

* चायपत्ती में एंटी-ऑक्सीडेंट पाए जाते हैं। ऐसे में चोट या किसी जख्म पर चायपत्ती का लेप लगाना फायदेमंद रहता है। उबली हुई चायपत्ती को अच्छी तरह धो लें। इसे चोट पर लगाने से घाव जल्दी भर जाएगा।

 

* चायपत्ती का पानी एक बेहतरीन कंडिशनर होता है। चायपत्ती को धोकर दोबारा उबाल लें। इस पानी से बालों को धोएं। इससे बाल चमकदार और सॉफ्ट हो जाएंगे।

* गमले में पौधों को समय-समय पर खाद की जरूरत होती है। ऐसे में आप बची हुई चायपत्ती को साफ कर लें और गमले में डाल दें। इससे आपके पौधे स्वस्थ रहेगें।

* चायपत्ती का एक और फायदा यह है कि आप इससे लकड़ी से बनी हुई चीजों को चमकदार बनाने के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं। बची हुई चायपत्तियों को दोबारा से पानी में उबाल लें और इसे किसी शीशी या फिर स्प्रे की बोतल में डाल दें। अब इससे लकड़ी से बने सामानों की सफाई करें।

 

* बनी हुई चाय की पत्ती दुबारा पानी में डाल कर उबालें। उस पानी से घी और तेल के डब्बे साफ करें। इससे डब्बे की दुर्गंध जाती रहेगी।

 

Facebook Comments