गजब! धार्मिक नगरी पुष्कर में नशे का कारोबार

21 अगस्त को भी तीर्थ नगरी पुष्कर में दो विदेशी पर्यटकों को नशे की हालत में पुलिस ने पकड़ा और फिर उन्हें प्राथमिक इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती करवाया। पुष्कर में आए दिन ऐसी घटनाएं हो रही हैं। कभी विदेशी पर्यटक नशे में धुत होकर बाजारों में हंगामा करते हैं तो कभी इधर-उधर पड़े हुए मिलते हैं।
इससे धार्मिक यात्रा पर आने वाले श्रद्धालुओं और पुलिस को भी परेशानी होतीे है। बड़ा सवाल यह है कि आखिर इन विदेशी पर्यटकों को पुष्कर में नशीले पदार्थ कौन उपलब्ध करवाता है? जानकारों की माने तो पुष्कर में एक ऐसा गिरोह सक्रिय है जो विदेशी पर्यटकों के साथ साथ धनाढ्य परिवारों के युवाओं को भी नशीले पदार्थ उपलब्ध करवाता है।
इस गिरोह की सक्रियता से अब पुष्कर के स्थानीय परिवार भी परेशान होने लगे हैं। पुष्कर के युवा भी नशे की लत के शिकार हो रहे हैं। नशे के कारोबार को लेकर पुलिस पर भी अंगुलियां उठ रही है। जानकारों की माने तो पुष्कर पुलिस के कुछ कर्मियों को नशे के कारोबार की जानकारी है, लेकिन किन्हीं कारणों से कारोबारियों पर कार्यवाही नहीं होती, चूंकि पुष्कर में नशीले पदार्थों की बिक्री पर रोक है।
इसलिए शराब की दुकान भी नगर पालिका की सीमा में नहीं है। लेकिन इसके बावजूद भी चरस अफीम जैसे जानलेवा नशीले पदार्थों की बिक्री होने के आरोप हैं। सूत्रों की माने तो गिरोह के सदस्य ऊँची कीमत पर नशीले पदार्थ विदेशी पर्यटको को उपलब्ध करवाते हैं। हालांकि होटल, गेस्ट हाउसों आदि में ठहरे विदेशी पर्यटकों पर खुफिया पुलिस की भी नजर होतीे है, लेकिन फिर भी पर्यटकों को नशीले पदार्थ मिल ही जाते हैं।
Facebook Comments