स्वतंत्रता दिवस समारोह में सम्मानित होंगे पराली न जलाने वाले किसान

हरियाणा ने आगामी धान कटाई सीजन को देखते हुए फसल अवशेष प्रबंधन पर गंभीरता से कार्य करना आरम्भ किया है। जहां एक ओर मुख्यमंत्री  मनोहर लाल व कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री ओम प्रकाश धनखड़ सोशल, प्रिंट व इलैक्ट्रिानिक मीडिया के माध्यम से किसानों को पराली न जलाने की अपील निरंतर कर रहे हैं तो वहीं दूसरी ओर विभाग के प्रधान सचिव डा. अभिलक्ष लिखी नियमित रूप से फील्ड में कृषि उप-निदेशकों के साथ नियमित रूप से विडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से समीक्षा बैठक कर रहे हैं।

PunjabKesari

इस कड़ी में उन्होंने कृषि उप-निदेशकों के साथ-साथ सभी जिलों के सूचना, जनसंपर्क एवं भाषा विभाग के अधिकारियों के साथ शुक्रवार को चंडीगढ़ से वीडियो कान्फ्रेंसिंग कर फसल अवशेष प्रबंधन को एक अभियान के रूप में चलाने के निर्देश दिए। उन्होंने इस बात की भी जानकारी दी कि पराली न जलाने वाले किसानों को एक राज्य स्तरीय समारोह में मुख्यमंत्री व कृषि मंत्री के हाथों सम्मानित करवाया जाएगा। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे 15 अगस्त स्वतंत्रता दिवस समारोह में  पराली न जलाने वाले किसानों को विशेष रूप से सम्मानित करवाए।

PunjabKesari

उन्होंने कहा कि कृषि यंत्र खरीदने के लिए हरियाणा सरकार द्वारा सीएचसी के माध्यम से कृषि यंत्र खरीदने के लिए 80 प्रतिशत अनुदान व व्यक्तिगत रूप से यंत्र खरीदने पर 50 प्रतिशत अनुदान देने का प्रावधान किया है तथा  तथा इस कार्य के लिए केन्द्र सरकार की ओर से 137 करोड़ रुपये उपलब्ध करवाए गए हैं।

Facebook Comments