क्योंकि चुनाव में पैसे चाहिए इसलिए मोदी कर रहे हैं उद्दोगपतियों से प्रेम और सांठगांठ : राज बब्बर

उत्तर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष राज बब्बर ने पीएम मोदी के लखनउ के 2 दिवसीय दौरे के दौरान उद्योगपतियों की प्रशंसा करने को लेकर जमकर हमला बोला। बब्बर ने कहा कि मोदी चुनावी वर्ष के दौरान उद्योगपतियों को अपने साथ मिलाना चाहते हैं ताकि एक तरफ वह इन से चुनावी फंड बटौर सके और दूसरा उत्तर प्रदेश में तथाकथित विकास कार्यों को शुरु कराकर फिर से लोगों को बहकावे में लाया जा सके। कांग्रेस नेता ने कहा उद्योगपतियों से अपना गठबंधन बनाने में वह नाकाम रहे और यह 2 दिवसीय कार्यक्रम ड्रामेबाजी के अलावा कुछ नहीं था।

बब्बर ने कहा कि रविवार को लखनऊ में प्रधानमंत्री का भाषण पूरी तरह से शर्मनाक था। जो खुद को निर्दोष दिखाता था और यहां तक कि एक बीमार व्यक्ति (अमर सिंह) को अपनी मासूमियत साबित करने के लिए भी इशारा करता था। लेकिन यह पर्याप्त नहीं होगा क्योंकि देश के लोग जानना चाहते हैं कि एनडीए सरकार के लिए राफेल सौदा इतना महत्वपूर्ण क्यों था, उन्होंने दावा किया कि यदि पार्टी उन्हें अनुमति देती है तो वह प्रधानमंत्री की तुलना में बेहतर ड्रामेबाजी कर सकते हैं।

बब्बर ने पत्रकार सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री ने आरोप लगाया कि विपक्षी नेता उद्योगपतियों के साथ पर्दे के पीछे सांठगांठ करते हैं,मगर सार्वजनिक रुप से उनके साथ खड़ा होने में शर्म महसूस करते हैं। विपक्षी नेता उद्योगपतियों से कई तरह के लाभ उठाते थे। मोदी ने कहा कि उद्योगपति कोई चोर-लुटेरे नहीं हैं देश के निर्माण में उनकी अहम भूमिका है।

बब्बर ने आगे कहा कि यह सही है कि देश के विकाश में उद्योपतियों का काफी बड़ा हाथ है। मगर मोदी बताएं कि वह जनता की बजाए मुट्ठी भर उद्योगतियों को साथ लेकर क्यों घूमते हैं। 2014 के चुनावों में भी मोदी ने इन उद्योगपतियों से काफी मदद ली थी, अब 2019 के चुनाव को देखते हुए मोदी उद्योगपतियों से सांठगांठ कर रहे हैं।

Facebook Comments