अटल बिहारी वाजपेयी पंडित थे लेकिन मांस-मछली के बड़े शौकीन थे, रविशंकर प्रसाद के घर छक कर खाए थे

पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी का निधन हो गया है. एम्स ने मेडिकल बुलेटिन जारी कर जानकारी दी कि आज शाम 05 बजकर 05 मिनट पर अटल बिहारी वाजपेयी ने अंतिम सांस ली. पूरे देश में शोक की लहर दौड़ गई है. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, पीएम मोदी, बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह समेत देश भर के लोग उन्हें श्रद्धांजलि दे रहे हैं. कई पॉलिटिशियन अटल बिहारी वाजपेयी के साथ बिताये पलों को याद कर भावुक हो रहे हैं. बिहार के डिप्टी सीएम सुशील मोदी के बाद अब केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद की पत्नी माया शंकर ने भी यादों को साझा किया है. उन्होंने बताया कि अटल बिहारी उनके घर कई बार आये थे.

रविशंकर प्रसाद की पत्नी माया शंकर ने बताया कि अटल बिहारी वाजपेयी कई बार उनके घर पर आये थे. वे खाने पीने के बड़े शौक़ीन थे. माया शंकर ने बताया कि अटल बिहारी वाजपेयी को घर में मछली बनाकर खिलाया था. बता दें कि केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद अटल कैबिनेट में भी मंत्री रहे थे. उस वक़्त तक जितनी भी सरकारें आयी, उनमें सबसे अधिक बिहारियों को अगर किसी ने अपनी कैबिनेट में जगह दी वे अटल बिहारी वाजपेयी ही थे.

अटल बिहारी वाजपेयी भले ही पंडित थे लेकिन मांस-मछली बड़े चाव से खाते थे. रविशंकर प्रसाद के घर पर तो मछली खाते ही थे. लेकिन विदेशी दौरे पर भी उनके जायके का खूब ख्याल रखा जाता था. वाजपेयी जी का अच्छा खाने-पीने का शौक़ मशहूर था. वह कभी नहीं छिपाते थे कि वह मछली-माँस चाव से खाते हैं. शाकाहार को लेकर जरा भी हठधर्मी या कट्टरपंथी नहीं थे. दक्षिण दिल्ली में ग्रेटर कैलाश-2 में उनका प्रिय चीनी रेस्तराँ था जहाँ वह प्रधानमंत्री बनने से पहले अकसर दिख जाते थे.

राजघाट के निकट शुक्रवार को होगा भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी का अंतिम संस्कार

पुराने भोपाल में मदीना के मालिक बड़े मियाँ फ़ख्र से बताते थे कि वह वाजपेयी जी का पसंदीदा मुर्ग़ मुसल्लम पैक करवा कर दिल्ली पहुंचवाया करते थे.मिठाइयों के वह ग़ज़ब के शौक़ीन थे. उनके पुराने मित्र ठिठोली करते कि ठंडाई छानने के बाद भूख खुलना स्वाभाविक है और मीठा खाते रहने का मन करने लगता है.

Facebook Comments