गंगा नदी में डूबी नाव, दो के शव मिले, 12 लापता

बिजनौर जिले के मंडावर क्षेत्र के चाहड़वाला गांव के पास शुक्रवार दोपहर 12 बजे के करीब गंगा पार से पशुओं के लिए चारा लेकर लौट रहे ग्रामीणों की नाव तेज धार के बीच डूब गई। नाव डूबने से करीब 30 महिला-पुरुष पानी में बह गए, जिसमें से 17 लोगों को बचा लिया गया। इनमें दो की नाजुक हालत को देखते हुए जिला अस्पताल भेजा गया। तलाश के दौरान एक महिला और एक व्यक्ति का शव गंगा बैराज के पास मिला। शाम तक प्रशासन के गोताखोर न मिलने के कारण बाकी के 12 महिला-पुरुष अभी भी लापता हैं। मौके पर तीन बजे पहुंचे डीएम ने मामले की जानकारी ली। वहीं, शाम को साढ़े सात बजे के करीब पहुंचे कमिश्नर ने हेलीकॉप्टर तो मंगाया, पर विजीबिलिटी होने के करण वह किसी काम नहीं आ सका।
मंडावर क्षेत्र के गांव डैबलगढ़ के ग्रामीण गंगा पार नाव से पशुओं का चारा लेने के लिए जाते हैं। शुक्रवार को गांव रघुनाथपुर, डैबलगढ़ और राजारामपुर गांव के करीब 30 महिला-पुरुष नाव से गंगा पार गए थे। दोपहर करीब 12 बजे सभी ग्रामीण चारे की गड्डियां नाव में रखकर लौट रहे थे। चाहड़वाला गांव के पास गंगा में अचानक ज्यादा पानी आने और ओवरलोड होने के चलते नाव पलट गई और सभी ग्रामीण पानी में बह गए। चीख-पुकार सुन आसपास मौजूद लोग पानी में बहे ग्रामीणों को बचाने के लिए दौड़ पड़े। कुछ ग्रामीणों को डैबलगढ़ के पास तो कुछ ग्रामीण को रावली और बैराज गंगा के पास पानी से निकालकर बचा लिया गया।
बचाए गए 17 लोगों में से रामवती पत्नी रामबहादुर और ज्योति पत्नी नेपाल को गंभीर हालत के चलते जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां ज्योति की हालत चिंताजनक बनी हुई है। सूचना पर दोपहर करीब तीन बजे डीएम अटल कुमार राय के साथ अन्य अधिकारी भी मौके पर पहुंचे, जबकि उनसे पहले एसडीएम ब्रिजेश कुमार सिंह वहां पहुंच चुके थे और शाम साढ़े सात बजे कमिश्नर अनिल राजकुमार ने पहुंचकर जानकारी ली।

नहीं पहुंचे गोताखोर, न ही काम आया हेलीकॉप्टर
आला अधिकारी मौके पर हेलीकॉप्टर और रेस्क्यू टीम मौके पर भेजने की बात करते रहे, लेकिन देर शाम तक डूबे लोगों को बचाने के लिए गोताखोर नहीं पहुंचे थे। और शाम होने पर विजिबिलटी कम होने के कारण हेलीकॉप्टर भी किसी काम न आ सका।

17 लोगों को बचा लिया गया है। ग्रामीणों ने पहले नाव में बैठने वालों की संख्या 30 बताई, बाद में 27 और फिर 24 बताई। एक महिला का शव मिल गया है, जबकि एक अन्य व्यक्ति के शव बरामद होने की सूचना मिल रही है। कुछ लोगों के खेतों में फंसे होने की भी उम्मीद है। हेलीकॉप्टर मंगाया गया है। एनडीआरएफ की टीम बुलाई गई है। पीएसी काम कर ही रही है। ग्रामीणों को पहले ही हिदायत दी गई थी कि कोई भी नाव से गंगा के पार न जाए।
अटल कुमार राय, जिलाधिकारी बिजनौर

नाव डूबने की सूचना मिलते ही बिजनौर के डीएम-एसपी को मौके पर भेज दिया गया था। रेस्क्यू के लिए गोताखोर, स्टीमर के साथ ही हेलीकाप्टर मंगवाया गया। बारिश और विजिबिलटी कम होने से हेलीकाप्टर इस्तेमाल नहीं किया जा सका। 17 लोग सुरक्षित निकाले गए। एक महिला और एक व्यक्ति का शव मिल गया है।
अनिल राजकुमार, मंडलायुक्त मुरादाबाद 

Facebook Comments