इमरान खान ने किया बड़ा ऐलान, PAK में छाई ख़ुशी की लहर

इमरान खान का कहना है कि वह 11 अगस्त को पाकिस्तान के नये प्रधानमंत्री के रूप में शपथ ग्रहण करेंगे। देश में 25 जुलाई को हुए आम चुनाव में 65 वर्षीय खान के नेतृत्व वाली पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरी है।

इमरान खान ने किया बड़ा ऐलान, PAK में छाई ख़ुशी की लहर

हालांकि पीटीआई के पास अभी भी सरकार बनाने के लिए आंकड़ा नहीं है। पाकिस्तान की 342 सीटों वाली नेशनल असेंबली में 272 सीटों पर प्रत्यक्ष निर्वाचन होता है। किसी भी पार्टी को सरकार बनाने के लिए कुल में से 172 सीटों की जरूरत होती है, हालांकि निर्वाचित 272 सीटों में उसे 137 सीटें ही चाहिए होती हैं। सदन में 60 सीटें महिलाओं के लिए जबकि 10 सीटें धार्मिक अल्पसंख्यकों के लिए आरक्षित हैं।

पीटीआई ने कल कहा था कि सरकार बनाने के लिए वह छोटे दलों और निर्दलीय विधायकों के संपर्क में हैं। पीटीआई के पास फिलहाल 116 सीटें हैं। रेडियो पाकिस्तान के अनुसार, खैबर पख्तूनख्वा में पीटीआई कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए खान ने कहा कि अगले महीने (अगस्त) की 11 तारीख को प्रधानमंत्री पद की शपथ लूंगा।

खान ने कहा, ‘‘मैंने खैबर पख्तूनख्वा के मुख्यमंत्री का भी फैसला कर लिया है। उसकी घोषणा अगले 48 घंटों में करूंगा। इस संबंध में मैंने जो भी फैसला लिया है, वह लोगों के हित में है।’’ उन्होंने कहा कि सिंध के सुदूर इलाकों से गरीबी मिटाना उनकी सरकार की प्राथमिकताओं में शामिल होगा।

इससे पहले पीटीआई के प्रवक्ता नईमुल हक ने शनिवार को संवाददाताओं से कहा था कि पार्टी प्रमुख इमरान खान 14 अगस्त को प्रधानमंत्री पद की शपथ लेंगे।

इस बीच इमरान खान की पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) के लिए एक और अच्छी खबर आई है। शुजात हुसैन की पार्टी पाकिस्तान मुस्लिम लीग- कुवैद (पीएमएल-क्यू) ने इमरान खान का समर्थन करने का ऐलान किया है।

इससे पहले मीडिया में चर्चा थी कि पीएमएल-क्यू पंजाब प्रांत में सरकार बनाने के लिए पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की पार्टी पाकिस्तान मुस्लिम लीग- नवाज (पीएमएल-एन) से हाथ मिलाएगी। लेकिन पार्टी ने मीडिया की अटकलों को खारिज करते हुए रविवार को कहा कि वह पीटीआई का साथ देगी।

पीएमएल-क्यू के नेता शुजात हुसैन ने रविवार को पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ बैठक की। बैठक में विपक्षी पार्टी पीएमएल-एन के प्रस्ताव को ठुकराकर पीटीआई के साथ रिश्ते मजबूत करने पर सहमति बनी। पार्टी ने कहा कि पीएमएल-एन पाकिस्तान की जनता के लिए नहीं बल्कि व्यक्तिगत हितों के लिए राजनीति में शामिल है, इसलिए पीएमएल-क्यू केंद्र और पंजाब में सरकार बनाने के लिए पीटीआई का समर्थन करेगी। ऐसे में विपक्षी दलों के साथ गठबंधन कर पाकिस्तान की सत्ता पर एक बार फिर से कब्जा करने का ख्वाब देख रही पीएमएल-एन के लिए एक बड़ा झटका है।

Facebook Comments